“कोरोना वायरस और लॉक डाउनलोड पर सरकार से सवाल”

DOWNLOAD IN PDF

“कोरोना वायरस और लॉक डाउनलोड पर सरकार से सवाल”

  • ये मेरा पत्र उन लोगों की तरफ से है जो ये सोचते हैं कि क्या वाकई कोरोना वायरस इतनी बड़ी आपदा है की इसके लिए लाखों लोगों का जीवन खतरे में डाला जा सकता है ?
  • चलिए मान लेते हैं की ये इतनी बड़ी आपदा है तो जरूरी सामान लेने के लिए गए लोग इसका शिकार नहीं होंगे इसकी कोई गारंटी है
  • मजदूरों को राहत के लिए पैसे देने से क्या फ़ायदा क्योंकि मार्केट तो बंद हैं हमारे देश में बहुत से ऐसे  मजदूर हैं जो रोजाना कमाते हैं और उसी से शाम को उनका घर चलता है
  • मैं मार्केट गया, जो कुछ देर के लिए खुल रहे हैं और लोग खाने पीने की वस्तुएं खरीद रहे हैं उन्हें छू रहे हैं अब सवाल उठता है की जब कोरोना फैलेगा तो उसे ऐसे तो नहीं रोका जा सकता था
  • आपने बैंकों को खुला रखने की बात की है तो क्या वहाँ जानवर आयेंगे आयेंगे तो लोग ही उनसे भी तो फैलेगा
  • लॉक डाउन से बस हुआ ये है की घर से 5 की जगह 1 व्यक्ति निकलेगा(जरूरी वस्तुएं खरीदने) जब 1 व्यक्ति निकलेगा तो अपने पूरे परिवार वाले को वायरस पहुंचा देगा
  • और आप क्या कह रहे हैं कि हम आपको घर-घर वस्तुएं पहुंचाएंगे, तो क्या जो व्यक्ति घर-घर जायेगा वो कोरोना नहीं फेलायेगा क्या गारंटी है
  • आपने ऐसा कर दिया है कि होगा सबकुछ लेकिन हमारी निगरानी में
  • मैं सुबह फल खरीदने गया और फल बेचने वाला बोला सुबह 4 बजे मंडी से लाया है क्या आप बता सकते हैं कोरोना वायरस सुबह सुबह सो जाता है जरूरी सामान खरीदते वक्त
  • आज मजदूर सडकों पर पैदल अपने घर जा रहे हैं क्योंकि उनको उनके मालिक निकाल रहे हैं उनके पास रहने के लिए जगह नहीं हैं वो क्या करें 300-500 KM दूर उनका घर है पता नहीं वो घर अपने बच्चों के साथ कैसे पहुंचेंगे
  • क्या किसी सिलेब्रिटी की जान गई है अभी तक इस वायरस से या किसी नेता की, जिन लोगों की जान गई है उनकी मेडिकल रिपोर्ट इन्टरनेट पर अपलोड कराईये
  • आगरा के अमित कपूर और उनका परिवार(कोरोना हुआ था) जब 14 दिन बाद लौटा तो तो उनकी हालत ऐसी थी मानो उन्हें कुछ हुआ ही नहीं, आप उन सभी लोगों के VIDEO शेयर कराईये जिन्हें कोरोना हुआ है और जिनकी मृत्यु हुई है
  • हमें संदेह है कि आप हमसे कुछ छुपा रहे हैं यदि ये वायरस इतना ही शक्तिशाली है तो आपके लोग कैसे मीडिया पर दिख रहे हैं राहत पैकेज की बात करते जब कहीं ये वायरस बहुत सामान्य तो नहीं जिसका केवल  भय फैलाया जा रहा हो
  • आपने ऐसा काम क्यों किया जिससे अर्थव्यवस्था की रीड टूट जाये कहीं कुछ पुराने मुद्दों को छुपाने के लिए तो नहीं(अर्थव्यवस्था का बहुत ज्यादा गिरना,NRC/CAA,कश्मीर आदि)
  • यदि ये इतना सामान्य वायरस है कि आप मिलकर कुछ सधानियाँ बरतकर एक दूसरे से मिल सकते हैं तो तत्काल आप प्रत्येक घर तक उच्च कोटि के मास्क मुहेया करा सकते थे और एक क़ानून बना देते कि सभी को वो पहनकर ही निकलना है और इसका कड़ाई से पालन करवा सकते थे

ये मेरे कुछ प्रश्न हैं जिनका जवाब बहुत सारे लोग चाहते हैं

गोल्डेज कुमार(शिवा)

भारत का नागरिक

जय हिन्द