भारत में एफ.डी.आई. का सबसे बड़ा स्रोत मारीशसः RBI रिपोर्ट

– एक छोटा सा देश भारत का सबसे बड़ा निवेशक है तो आप विश्वास नहीं करेंगे , लेकिन यह बात सही है कि भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) का सबसे बड़ा स्रोत देश मॉरीशस है. यह बात रिजर्व बैंक की एक रिपोर्ट में कही गई है .

– रिजर्व बैंक की रिपोर्ट के अनुसार भारत में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश में पहले नंबर पर मॉरीशस है. इसके बाद अमेरिका और ब्रिटेन का स्थान है. रिजर्व बैंक की जारी 2016-17 की एफडीआई रिपोर्ट कहती है कि सिंगापुर और जापान भारत में निवेश के मामले में चौथे और पांचवे स्थान पर हैं. भारत में हुए कुल विदेशी निवेश का 21.8 प्रतिशत हिस्सा मॉरीशस का है.

– उल्लेखनीय है कि भारतीय प्रत्यक्ष निवेश कंपनियों से संबंधित आरबीआई की रिपोर्ट के अनुसार रिजर्व बैंक की गणना में शामिल 18,667 कंपनियों में से 17,020 कंपनियों के मार्च 2017 में खत्म हुए वित्त वर्ष के खाते में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश या फिर विदेशों में उनके प्रत्यक्ष निवेश की स्थित को दर्ज किया गया है. मार्च 2017 की दशा में 96 प्रतिशत कंपनियां गैर-सूचीबद्ध हैं. इनमें से अधिकांश कंपनियों में सीधे एफडीआई प्राप्त हुआ था.
=>भारत में विदेशी निवेश के टॉप 5 देश
१. मॉरीशस
२. अमेरिका
३. ब्रिटेन
४. सिंगापुर
५. जापान

रिपोर्ट के अनुसार, भारत से विदेशों में किए जाने वाले प्रत्यक्ष निवेश (ओ.डी.आई.) को हासिल करने के मामले में सिंगापुर 19.7 प्रतिशत के साथ सबसे बड़ा विदेशी स्थान रहा । इसके बाद हालैंड, मारीशस और अमरीका का स्थान रहा।
#क्षेत्र जिनमें एफ़॰डी॰आई॰ सर्वाधिक आया :-
– बाजार मूल्य पर कुल एफ.डी.आई. में विनिर्माण क्षेत्र का करीब करीब आधा हिस्सा रहा है। इसके अलावा सूचना और दूरसंचार सेवाओं, वित्तीय और बीमा गतिविधियां एफ.डी.आई. पाने वाले अन्य प्रमुख क्षेत्र रहे हैं।

No automatic alt text available.