मालदीव के राष्ट्रपति की भारत यात्रा

संदर्भ


हाल ही में प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के आमंत्रण पर मालदीव गणराज्‍य के राष्‍ट्रपति इब्राहिम मोहम्‍मद सोलेह 16-18 दिसंबर, 2018 तक भारत की राजकीय यात्रा पर रहे। मालदीव गणराज्‍य के राष्‍ट्रपति का पद ग्रहण करने के बाद राष्‍ट्रपति सोलेह की यह पहली विदेश यात्रा थी।

महत्त्वपूर्ण बिंदु

  • यात्रा के दौरान दोनों पक्षों ने निम्‍नलिखित समझौतों/समझौता ज्ञापनों की संयुक्‍त घोषणा पर हस्‍ताक्षर किये:

♦ वीज़ा प्रबंधन सहायता पर समझौता
♦ सांस्‍कृतिक सहयोग पर समझौता ज्ञापन
♦ कृषि व्‍यवसाय व्‍यवस्‍था में सुधार हेतु पारस्‍परिक सहयोग के लिये समझौता ज्ञापन
♦ सूचना और संचार टेक्‍नोलॉजी तथा इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स के क्षेत्र में सहयोग पर आशय की संयुक्‍त घोषणा

  • दोनों देशों ने संस्थागत संपर्क बनाने तथा निम्‍नलिखित क्षेत्रों में सहयोग के लिये रूपरेखा निर्धारित करने पर सहमति व्‍यक्‍त की।

♦ स्‍वास्‍थ्‍य विशेषकर कैंसर उपचार पर सहयोग
♦ आपराधिक मामलों पर पारस्‍परिक कानूनी सहायता
♦ मानव संसाधन विकास
♦ पर्यटन

  • मालदीव के राष्ट्रपति तथा भारत के प्रधानमंत्री दोनों ने भारत और मालदीव के बीच परंपरागत एवं मैत्रीपूर्ण संबंधों को और मजबूती प्रदान करने व जीवंत बनाने का संकल्‍प दोहराया।
  • भारत और मालदीव के बीच संबंध भौगोलिक निकटता, नस्लीय, ऐतिहासिक, सामाजिक-आर्थिक तथा दोनों देशों की जनता के बीच सांस्‍कृतिक संबंधों के चलते मज़बूत हुए हैं। दोनों शीर्ष नेताओं द्वारा लोकतंत्र, विकास तथा शांतिपूर्ण सह अस्‍तित्त्व में भरोसा जताया गया।
  • प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी सरकार की ‘पड़ोसी प्रथम’ नीति का स्‍मरण करते हुए मालदीव के सामाजिक-आर्थिक विकास तथा लोकतंत्र की मज़बूती और स्‍वतंत्र संस्‍थानों की आकांक्षा पूरी करने में भारत द्वारा यथासंभव सहयोग का आश्‍वासन दिया।
  • प्रधानमंत्री ने इस संबंध में बजटीय समर्थन, मुद्रा की अदला-बदली के रूप में 1.4 बिलियन अमेरिकी डॉलर की वित्तीय सहायता तथा मालदीव के सामाजिक आर्थिक विकास कार्यक्रमों को पूरा करने के लिये रियायती ऋण के प्रावधान की घोषणा की।