युवा सहकार उद्यम सहयोग एवं नवाचार योजना (Yuva Sahakar-Cooperative Enterprise Support and Innovation Scheme)

युवा सहकार उद्यम सहयोग एवं नवाचार योजना (Yuva Sahakar-Cooperative Enterprise Support and Innovation Scheme)

चर्चा में क्यों?

हाल ही में कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम (एनसीडीसी) की ‘युवा सहकार उद्यम सहयोग एवं नवाचार योजना’ नामक एक युवा अनुकूल योजना का शुभारंभ किया गया।

प्रमुख बिंदु

  • युवाओं की आवश्‍यकताओं एवं महत्त्वाकांक्षाओं को ध्‍यान में रखते हुए सहकारी व्‍यवसाय उपक्रमों की ओर ध्‍यान आकर्षि‍त करने के उद्देश्य से एनसीडीसी द्वारा यह योजना तैयार की गई है।
  • एनसीडीसी ने इस उद्देश्‍य की पूर्ति के लिये उदार सुविधाओं के साथ एक विशेष निधि समर्पि‍त की है। नई योजना का शुभारंभ सहकारी समितियों को नए और अभिनव क्षेत्रों में नवाचार करने के लिये प्रोत्साहित करेगा।
  • यह योजना एनसीडीसी द्वारा सृजि‍त 1000 करोड़ रुपए के ‘सहकारि‍ता स्‍टार्ट-अप एवं नवाचार नि‍धि‍’ (सीएसआईएफ) से लिंक्‍ड होगी।
  • यह पूर्वोत्तर क्षेत्रों, महत्त्वाकांक्षी ज़ि‍लों तथा महि‍लाओं अथवा अनुसूचि‍त जाति‍एवं अनुसूचि‍त जनजाति‍व दि‍व्‍यांग सदस्‍यों की सहकारिता हेतु युवा अनुकूल पहलों में शामि‍ल होगी।
  • इन विशेष श्रेणियों के लिये वित्तपोषण परियोजना लागत का 80% तक होगा एवं अन्य के लिये यह 70% होगा।
  • जिन प्रोजेक्ट की लागत 3 करोड़ रुपए तक है उनके प्रोत्साहन के लिये योजना में ब्याज दर प्रचलित टर्म लोन पर लागू ब्याज दर से 2% कम होगी, साथ ही मूलधन के भुगतान पर 2 साल का अधिस्थगन दिया जाएगा।
  • योजना का लाभ लेने हेतु कम-से-कम एक वर्ष से संचालित सभी प्रकार की सहकारी समितियाँ पात्र होंगी।
  • एनसीडीसी सहकारि‍ता के क्षेत्र में अति‍महत्त्वपूर्ण वि‍त्तीय संस्‍था है जि‍सने वर्ष 2022 तक देश के किसानों की आय दोगुनी करने के लिये मि‍शन सहकार-22 की शुरूआत की है।

राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम (NCDC)

  • राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम (National Cooperative Development Corporation) की स्थापना वर्ष 1963 में संसद के एक अधिनियम द्वारा कृषि एवं कि‍सान कल्‍याण मंत्रालय के अंतर्गत एक सांविधिक निगम के रुप में की गई थी।
  • एनसीडीसी का उद्देश्य कृषि उत्पादन, खाद्य पदार्थों, औद्योगिक वस्तुओं, पशुधन और सहकारी सिद्धांतों पर उत्पादित कुछ अन्य अधिसूचित वस्तुओं और सेवाओं के उत्पादन, प्रसंस्करण, विपणन, भंडारण, निर्यात और आयात तथा इसके साथ संबंधित मामलों या आकस्मिक मामलों के लिये कार्यक्रमों की योजना बनाना और उनका संवर्द्धन करना है।
  • एनसीडीसी सहकारी क्षेत्र हेतु शीर्ष वि‍त्तीय तथा वि‍कासात्‍मक संस्‍थान के रूप में कार्यरत एकमात्र सांवि‍धि‍क संगठन है। यह कृषि‍एवं संबद्ध क्षेत्रों के आलावा विभिन्न क्षेत्रों में सहकारि‍ता को सहयोग प्रदान करता है।
  • वर्ष 2014-2018 (13 नवंबर तक) के दौरान एनसीडीसी द्वारा 63,702.61 करोड़ रुपए की वित्तीय सहायता निर्गत की गई है, जो वर्ष 2010-2014 के दौरान निर्गत 19,850.6 करोड़ रुपए से 220% अधिक है।