10-06-2019 DAILY CURRENT MCQ’S

  1. सतत विकास लक्ष्य लैंगिक सूचकांक में भारत को कौन सा रैंक प्राप्त हुआ?
    उत्तर – 95वां
    हाल ही में पहला सतत विकास लक्ष्य लैंगिक सूचकांक जारी किया गया, इस सूचकांक में लैंगिक समानता के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए की गयी प्रगति के आधार पर देशों का मूल्यांकन किया गया। इस सूचकांक में 129 देशों की सूची में भारत को 129वां स्थान प्राप्त हुआ है। इस सूचकांक को इक्वल मेजर्स 2030 द्वारा किया गया है।
    मुख्य बिंदु
    इस सूचकांक के लिए देशों का मूल्यांकन 51 सूचकों के आधार पर किया गया है। इस सूचकांक में देशों को 0-100 अंक के बीच स्कोर प्रदान किया गया। इस सूचकांक में 100 का स्कोर मिलने का अर्थ है कि उक्त देश ने लैंगिक समानता के सभी लक्ष्य प्राप्त कर लिए हैं। जबकि 50 के स्कोर का अर्थ है कि उक्त देश अभी अपने लक्ष्य को आधा ही प्राप्त कर पाया है। इस सूचकांक का वैश्विक औसत स्कोर 65.7 (खराब) रहा।
    टॉप 10 देश
    1. डेनमार्क
    2. फ़िनलैंड
    3. स्वीडन
    4. नॉर्वे
    5. नीदरलैंड
    6. स्लोवेनिया
    7. जर्मनी
    8. कनाडा
    9. आयरलैंड
    10. ऑस्ट्रेलिया
    सबसे निचले 10 देश
    1. सिएरा लियॉन
    2. लाइबेरिया
    3. नाइजीरिया
    4. माली
    5. मॉरिटानिया
    6. नाइजर
    7. यमन
    8. कांगो
    9. DR कांगो
    10. चाड
    भारत का प्रदर्शन
    इस सूचकांक में भारत को 56.2 का स्कोर प्राप्त हुआ, भारत उन 43 देशों में शामिल है जो “वैरी पूर” श्रेणी में आये हैं। स्वास्थ्य (79.9), भूख (76.2) तथा उर्जा (71.8) में भारत का प्रदर्शन काफी अच्छा है। पार्टनरशिप (18.3), उद्योग, अधोसंरचना तथा नवोन्मेष (38.1) तथा जलवायु (43.4) में भारत का प्रदर्शन काफी खराब रहा।
    इक्वल मेजर्स 2030
    यह विभिन्न क्षेत्रीय व वैश्विक संस्थाओं का समूह है, इसमें बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन, अफ्रीकन विमेंस डेवलपमेंट एंड कम्युनिकेशन नेटवर्क, इंटरनेशनल विमेंस हेल्थ कोएलिशन तथा प्लान इंटरनेशनल शामिल हैं।
    2. हाल ही में लालदिंगलियाना साइलो का निधन हुआ, वे किस समाचार चैनल के एडिटर थे?
    उत्तर – दूरदर्शन
    लालदिंगलियाना साइलो दूरदर्शन तथा आल इंडिया रेडियो के न्यूज़ एडिटर थे, उनका निधन हाल ही में आइजोल में हुआ। साइलो भारतीय सूचना सेवा के वरिष्ठ अधिकारी थे। वे 1972 में फ़ील्ड पब्लिसिटी ऑफिसर के रूप में सेवा में शामिल हुए थे।
    3. हाल ही में दिल्ली उच्च न्यायालय के नये मुख्य न्यायधीश कौन बने?
    उत्तर – जस्टिस धीरुभाई नारनभाई पटेल
    जस्टिस धीरुभाई नारनभाई पटेल ने हाल ही में दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायधीश के रूप में शपथ ली है, उन्होंने दिल्ली उच्च न्यायालय में राजेन्द्र मेनन का स्थान लिया। जस्टिस मेनन दो दशक के न्यायिक कार्यकाल के बाद अपने पद से सेवानिवृत्त हुए थे। जस्टिस धीरुभाई नारनभाई पटेल इससे पहले झारखण्ड उच्च न्यायालय में कार्यरत्त थे, उन्हें लेफ्टिनेंट गवर्नर अनिल बैजल ने दिल्ली के मुख्य न्यायधीश के रूप में शपथ दिलाई। इस शपथ ग्रहण समारोह में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल, उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए।
    जस्टिस पटेल 28 जुलाई, 1984 में अधिवक्ता के रूप में एनरोल हुए थे, वे गुजरात उच्च न्यायालय में कार्य करते थे। 7 मार्च, 2004 को उन्हें गुजरात उच्च न्यायालय में अतिरिक्त न्यायधीश नियुक्त किया गया था। बाद में 25 जनवरी, 2006 को उन्होंने स्थायी न्यायधीश के रूप में शपथ ली। बाद में उनका स्थानांतरण झारखण्ड उच्च न्यायालय में किया गया, वहां उन्होंने 3 फरवरी, 2009 को शपथ ली।
    4. भारत ने किस देश के साथ कर डाटा समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं?
    उत्तर – मार्शल आइलैंड
    भारत ने मार्शल आइलैंड के साथ कर सूचना आदान-प्रदान समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं, इसके तहत दोनों पक्षों द्वारा बैंकिंग तथा स्वामित्व की जानकारी साझी की जाएगी। मार्शल आइलैंड प्रशांत महासागर में हवाई और फिलीपींस के बीच में स्थित है।
    5. वेस्ट-टू-एनर्जी प्लांट से उर्जा प्राप्त करने वाला भारत का पहला प्रोजेक्ट कौन है?
    उत्तर – दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन (DMRC)
    दिल्ली मेट्रो वेस्ट-टू-एनर्जी प्लांट से उर्जा प्राप्त करने वाला देश का पहला प्रोजेक्ट बना गया है। DMRC गाजीपुर में 12 मेगावाट क्षमता वाले प्लांट से 2 मेगावाट उर्जा प्राप्त कर रहा है। DMRC इस प्लांट से 17.5 मिलियन यूनिट प्रतिवर्ष उर्जा प्राप्त करेगा। इस वेस्ट-टू-एनर्जी प्लांट की स्थापना ईस्ट दिल्ली वेस्ट प्रोसेसिंग कंपनी लिमिटेड (EDWPCL) द्वारा की गयी थी, यह पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप पर आधारित है, इसमें दिल्ली सरकार, पूर्वी दिल्ली म्युनिसिपल कारपोरेशन तथा EDWPCL शामिल हैं। इस वेस्ट-टू-एनर्जी प्लांट से के जीवनकाल में 8 मिलियन टन ग्रीनहाउस गैस के प्रभाव को कम किया जा सकेगा।
    6. संसदीय मामलों की कैबिनेट समिति के अध्यक्ष किसे चुना गया है?
    उत्तर – राजनाथ सिंह
    17वें लोकसभा चुनावों में शानदार जीत हासिल करने के बाद केंद्र में प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में NDA की सरकार बनी। इस नवगठित सरकार ने आठ प्रमुख कैबिनेट समितियों का पुनर्गठन किया है। 6 कैबिनेट उप-समितियों का पुनर्गठन किया गया है, जबकि रोज़गार सृजन व आर्थिक विकास के लिए दो नयी समितियों का गठन किया गया है।
    मुख्य बिंदु
    पुनर्गठित आठ समितियों में केन्द्रीय गृह मंत्री सभी समितियों के सदस्य हैं, जबकि प्रधानमंत्री मोदी 6 समितियों में शामिल हैं।
    आठ पुनर्गठित कैबिनेट समितियां निम्नलिखित हैं :
    कैबिनेट की नियुक्ति समिति : इस समिति में प्रधानमंत्री मोदी तथा अमित शाह शामिल हैं।
    आवास पर कैबिनेट समिति : इसमें अमित शाह, नितिन गडकरी, निर्मला सीतारमण तथा पियूष गोयल शामिल हैं।
    विशेष आमंत्रित : जितेन्द्र सिंह तथा हरदीप सिंह पुरी।
    आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति : इस समिति में प्रधानमंत्री मोदी (अध्यक्ष) हैं, इसी समिति के अन्य सदस्य हैं : अमित शाह, नितिन गडकरी, निर्मला सीतारमण, पियूष गोयल, राजनाथ सिंह, रवि शंकर प्रसाद, हरसिमरत कौर बादल, डी.वी. सदानंद गौड़ा, नरेन्द्र सिंह तोमर, डॉ. एस. जयशंकर तथा धर्मेन्द्र प्रधान।
    संसदीय मामलों की कैबिनेट समिति : इस समिति में अमित शाह, निर्मला सीतारमण, नरेंद्र सिंह तोमर, आर.एस. प्रसाद, रामविलास पासवान, थावर चंद गहलोत, प्रकाश जावड़ेकर तथा प्रहलाद जोशी शामिल हैं।
    विशेष आमंत्रित : अर्जुन राम मेघवाल तथा वी. मुरलीधरन।
    राजनीतिक मामलों की कैबिनेट समिति : इस समिति में प्रधानमंत्री मोदी, अमित शाह, नितिन गडकरी, निर्मला सीतारमण, रामविलास पासवानम, नरेन्द्र सिंह तोमर, आर.एस. प्रसाद, हरसिमरत कौर बादल, पियूष गोयल, हर्षवर्धन, अरविन्द गणपत सावंत तथा प्रहलाद जोशी शामिल हैं।
    सुरक्षा पर कैबिनेट समिति : इसे सबसे महत्वपूर्ण पैनल माना जाता है, इसमें प्रधानमंत्री मोदी, राजनाथ सिंह, अमित शाह, निर्मला सीतारमण तथा एस. जयशंकर शामिल हैं।
    निवेश वृद्धि पर कैबिनेट समिति : इस समिति में प्रधानमंत्री मोदी, अमित शाह, नितिन गडकरी, निर्मला सीतारमण तथा पियूष गोयल शामिल हैं।
    रोज़गार तथा कौशल विकास व कैबिनेट समिति : इस समिति में प्रधानमंत्री मोदी, अमित शाह, निर्मला सीतारमण, पियूष गोयल, नरेन्द्र सिंह तोमर, रमेश पोखरियाल निशंक, धर्मेन्द्र प्रधान, डॉ. महेंद्र नाथ पाण्डेय, संतोष कुमार गंगवार तथा हरदीप सिंह पुरी शामिल।
    विशेष आमंत्रित : नितिन गडकरी, प्रहलाद सिंह पटेल, स्मृति जुबिन ईरानी तथा हरसिमरत कौर बादल।
    7. फीफा महिला विश्व कप 2019 का आयोजन किस देश में किया जा रहा है?
    उत्तर – फ्रांस
    7 जून, 2019 को फीफा महिला विश्व कप 2019 शुरू हो रहा है, यह विश्व कप एक महीने तक चलेगा, इसका समापन 7 जुलाई, 2019 को होगा। इस विश्व कप का आयोजन फ्रांस में किया जा रहा है। इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाली टीमें इस प्रकार हैं : फ्रांस, अमेरिका, जर्मनी, इंग्लैंड, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, नीदरलैंड, जापान, स्वीडन, ब्राज़ील, स्पेन, नॉर्वे, दक्षिण कोरिया, चीन, इटली, न्यूज़ीलैंड स्कॉटलैंड, थाईलैंड, अर्जेंटीना, चिली, नाइजीरिया, कैमरून, दक्षिण अफ्रीका और जमैका। यह ऐसा पहला महिला विश्व कप है जिसमे विडियो असिस्टेंट रेफ़री (VAR) सिस्टम का उपयोग किया जाएगा।
    फीफा
    फीफा विश्व के प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉल प्रतियोगिताएं का आयोजन करता है। फीफा की स्थापना 1904 में की गयी थी, इसका मुख्यालय ज्यूरिक में स्थित है। फुटबॉल के नियम फीफा के द्वारा नहीं बल्कि अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉल संघ बोर्ड द्वारा बनाये जाते हैं।
    8. अज़ीम प्रेमजी का सम्बन्ध किस कंपनी से है?
    उत्तर – विप्रो
    देश के सबसे अग्रणी उद्योगपतियों में से एक अज़ीम प्रेमजी ने विप्रो से सेवानिवृत्ति की घोषणा कर दी है। वे विप्रो के एग्जीक्यूटिव चेयरमैन तथा मैनेजिंग डायरेक्टर के रूप में सेवानिवृत्त होंगे। अज़ीम प्रेमजी ने जुलाई, 2019 के अंत तक सेवानिवृत्त हो जायेंगे। अज़ीम प्रेमजी के पुत्र रिषद प्रेमजी एग्जीक्यूटिव चेयरमैन के रूप में उनकी जगह लेंगे, रिषद अगले पांच वर्ष तक एग्जीक्यूटिव चेयरमैन बने रहेंगे। जबकि मैनेजिंग डायरेक्टर का कार्यभार सीईओ अबिदाली नीमचवाला संभालेंगे।
    अज़ीम प्रेमजी
    अज़ीम प्रेमजी का जन्म 24 जुलाई, 1945 को ब्रिटिश भारत के बॉम्बे में हुआ था। वे वर्तमान में विप्रो के चेयरमैन हैं। अज़ीम प्रेमजी ने अपने पिताजी के आकस्मिक निधन के बाद मात्र 21 वर्ष की आयु में विप्रो की कमान संभाली, इस समय विप्रो वनस्पति तेल का उत्पादन करती थी। अज़ीम प्रेमजी ने विप्रो का विविधिकरण किया तथा कई अन्य उत्पाद लांच की। 1980 के दशक में उन्होंने विप्रो को आईटी सेक्टर से जोड़ा। वर्तमान समय में विप्रो देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनियों में से एक है।
    विप्रो
    विप्रो भारत की बहुराष्ट्रीय कम्पनी है, इसकी स्थापना 29 दिसम्बर, 1945 को मोहम्मद हाशिम प्रेमजी द्वारा की गयी थी। इसका मुख्यालय बंगलुरु में स्थित है। शुरू में यह कंपनी वनस्पति व रिफाइंड तेल का उत्पादन करती थी। 1966 में अज़ीम प्रेमजी 21 वर्ष की आयु में विप्रो के चेयरमैन बने, उन्होंने विप्रो का कायाकल्प बड़े पैमाने पर किया। अब विप्रो देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनियों में से एक है। विप्रो पर्सनल केयर उत्पाद, फर्नीचर, हेल्थकेयर तथा रौशनी से सम्बंधित उत्पादों का निर्माण करती है। इसके अलावा विप्रो आईटी सेवा, आउटसोर्सिंग, कंसल्टिंग तथा डिजिटल स्ट्रेटेजी जैसी सेवायें भी प्रदान करती है। विप्रो में 1,70,000 से अधिक कर्मचारी कार्य करते हैं। 2019 में कंपनी की टोटल इक्विटी 8.25 अरब डॉलर है।
    9. नीति आयोग का उपाध्यक्ष किसे नियुक्त किया गया है?
    उत्तर – राजीव कुमार
    प्रधानमंत्री मोदी ने सरकार के थिंक टैंक नीति आयोग के पुनर्गठन को मंज़ूरी दे दी है। पुनर्गठित नीति आयोग के सदस्य निम्नलिखित हैं :
    अध्यक्ष : प्रधानमंत्री
    उपाध्यक्ष : राजीव कुमार
    पूर्णकालिक सदस्य
    1. वी.के. सारस्वत
    2. प्रोफेसर रमेश चंद
    3. डॉ. वे.के. पॉल
    पदेन सदस्य
    1. राजनाथ सिंह, रक्षा मंत्री
    2. अमित शाह, गृह मंत्री
    3. निर्मला सीतारमण, केन्द्रीय वित्त व कॉर्पोरेट मामले मंत्री
    4. नरेंद्र सिंह तोमर, कृषि व किसान कल्याण मंत्री, ग्रामीण विकास मंत्री तथा पंचायती राज मंत्री
    विशेष आमंत्रित
    1. नितिन गडकरी, सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री
    2. थावर चंद गहलोत, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री
    3. पियूष गोयल, रेल मंत्री व वाणिज्य व उद्योग मंत्री
    4. राव इंदरजीत सिंह, सांख्यिकी एवं कार्यक्रम कार्यान्वयन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)
    नीति आयोग
    नीति आयोग (भारतीय राष्‍ट्रीय परिवर्तन संस्‍थान) भारत सरकार द्वारा गठित एक नया संस्‍थान है जिसे योजना आयोग के स्‍थान पर बनाया गया है। 1 जनवरी 2015 को इस नए संस्‍थान के संबंध में जानकारी देने वाला मंत्रिमंडल का प्रस्‍ताव जारी किया गया।
    10. हाल ही में सुर्ख़ियों में रहा सिनाई प्रायद्वीप किस देश में स्थित है?
    उत्तर – मिस्र
    सिनाई प्रायद्वीप मिस्र में स्थित है। हाल ही में मिस्र के सुरक्षा बलों ने सिनाई में 14 संदिग्ध आतंकवादियों को मार गिराया। इससे पहले इस्लामिक स्टेट ने सिनाई में 8 पुलिस कर्मियों की हत्या की थी।