MOTIVATIONAL POEM BY GOLDEJ जो अब तक ना हुआ वह अब होगा

कर रहा हूं प्रयास ब्रह्मांड को पाने का,

होगा वही जो मैंने सोचा है,

चाहत जिसकी की है वह सब कुछ मिलेगा,

झुकेगा चांद और सूरज भी झुकेगा,

जो अब तक ना हुआ वह अब होगा ||

          by GOLDEJ 

 

I am trying to get the universe,

that is what I have thought,

everything that I have got,

will get everything,

the moon and the sun will bend too,

what has not happened so far will be