UPSC 2018 pre exam|Question No: 1-5

Jai Hind Friends Today we are starting a series which will be for the upcoming UPSC IAS Pre Examination, and in Delhi you will receive five quotes, which will also be analyzed, then you will be given a channel link. How are you looking at us and This will be the next question for the UPSC and UPPSC and for the RAS exam.

जय हिंद दोस्तों आज से हम एक सीरीज स्टार्ट कर रहे हैं जो कि आने वाले UPSC आईएएस प्री एग्जाम के लिए होगी और इसमें रोजाना आपको 5 क्वेश्चन मिलेंगे जिनका विश्लेषण भी मिलेगा तो आप बताइएगा चैनल लिंक दिया गया है हमारे आपको कैसी लग रही हैं और यह पूरी तरह से UPSC के लिए और UPPSC के लिए और RAS एग्जाम के लिए आने वाले क्वेश्चन होंगे

Youtube Channel-EXAM MADE EASY

Contribution link- Click Here

 

Q-1 Which of the following is an implication of the ‘Right to Equality’, as provided in the Constitution of India?

(a)No discrimination against any citizen on any ground.

(b)Treating everyone equally under all circumstances.

(c)Not giving preference to any section of society.

(d)Giving everyone an equal opportunity to achieve whatever one is capable of.

निम्नलिखित में से कौन-सा, भारत के संविधान में प्रदत्त ‘समानता के अधिकार’ का एक निहितार्थ है?

(a)किसी भी आधार पर किसी भी नागरिक के विरुद्ध कोई भेदभाव नहीं।

(b)सभी परिस्थितियों में प्रत्येक के साथ एक समान व्यवहार करना।

(c)समाज के किसी भी वर्ग को कोई वरीयता न देना।

(d)सभी को समान अवसर प्रदान करना जिससे वह अपनी क्षमता के अनुसार उपलब्धि प्राप्त कर सके।

ANSWER-D

The basic position with reference to the Right to Equality is further clarified in the Constitution by spelling out some implications of the Right to Equality. The government shall not discriminate against any citizen on grounds only of religion, race, caste, sex or place of birthHence, option (a) is not correct. The same principle applies to public jobs. All citizens have equality of opportunity in matters relating to employment or appointment to any position in the government. No citizen shall be discriminated against or made ineligible for employment on the grounds mentioned above.

The Government of India has provided reservations for Scheduled Castes, Scheduled Tribes and Other Backward Classes. Various governments have different schemes for giving preference to women, poor or physically handicapped in some kinds of jobs. Hence, options (b) and (c) are not correct. These reservations are not against the right to equality. For equality does not mean giving everyone the same treatment, no matter what they need. Equality means giving everyone an equal opportunity to achieve whatever one is capable of. Sometimes it is necessary to give special treatment to someone in order to ensure equal opportunity. This is what is meant by Affirmative action ot Positive discrimination.The Constitution says that reservations of this kind are not a violation of the Right to Equality rather giving everyone an equal opportunity to achieve whatever one is capable of. Hence, only option (d) is correct.

समानता के अधिकार के कुछ निहितार्थों को व्‍यक्‍त करते हुए समानता के अधिकार के संदर्भ में आधारभूत दृष्टिकोण को संविधान में और अधिक स्‍पष्‍ट किया गया है। संविधान में उल्लिखित है कि सरकार केवल धर्मनस्‍लजातिलिंग या जन्म स्थान के आधार पर किसी भी नागरिक के साथ भेदभाव नहीं करेगी। इसलिएविकल्प (a) सही नहीं है। सरकारी नौकरियों के लिए भी यही सिद्धांत लागू होता है। सभी नागरिकों को सरकार में किसी भी पद पर नियुक्ति से संबंधित मामलों में अवसर की समानता प्राप्त है। किसी भी नागरिक के साथ, उपर्युक्त उल्लिखित आधारों पर भेदभाव नहीं किया जाएगा या रोजगार के लिए अयोग्य नहीं ठहराया जाएगा।

भारत सरकार ने अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़े वर्गों को आरक्षण प्रदान किया है। विभिन्न सरकारों ने कुछ निश्चित प्रकार की नौकरियों में महिलाओं, निर्धनों या शारीरिक रूप से विकलांग व्‍यक्तियों को वरीयता देने के लिए विभिन्न योजनाएँ संचालित की हैं। इसलिए, विकल्प (b) एवं (c) सही नहीं हैं। ये आरक्षण समानता के अधिकार के विरुद्ध नहीं हैं क्‍योंकि समानता का अर्थ लोगों की आवश्‍यकताओं की उपेक्षा कर सभी से एक जैसा व्‍यवहार करना नहीं है। समानता का अर्थ प्रत्‍येक व्‍यक्ति को अपनी योग्‍यता के अनुसार उपलब्धि प्राप्‍त करने के लिए समान अवसर प्रदान करना है। कभी-कभी समान अवसर सुनिश्चित करने के लिए किसी से विशेष व्‍यवहार करना आवश्‍यक होता है। इसका अर्थ सकारात्मक कार्यवाही या सकारात्मक भेदभाव होता है। संविधान के अनुसार इस प्रकार के आरक्षण का उद्देश्य समानता के अधिकार का उल्लंघन नहीं हैं अपितु प्रत्‍येक व्‍यक्ति को अपनी क्षमता के अनुसार उप‍लब्धि प्राप्त करने का समान अवसर प्रदान करना है। इसलिए, केवल विकल्प

Q-2 With reference to ‘Green Climate Fund’, consider the following statements:

  1. It is an initiative of UNEP and UNFCCC.
  2. It aims to support developing countries in reducing their green house gas emissions.
  3. It supports public as well as private sectors for climate-sensitive investments.

Which of the statements given above is/are correct?

(a)1 and 2 only

(b)3 only

(c)1, 2 and 3

(d)2 and 3 only

‘ग्रीन क्लाइमेट फंड’ के संदर्भ में, निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए:

  1. यह UNEP और UNFCCC की पहल है।
  2. इसका उद्देश्य ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन को कम करने में विकासशील देशों की सहायता करना है।
  3. यह जलवायु-संवेदी निवेश (climate-sensitive investments) के लिए सार्वजनिक के साथ साथ निजी क्षेत्र की सहायता करता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

(a)केवल 1 और 2

(b)केवल 3

(c)1, 2 और 3

(d)केवल 2 और 3

ANSWER-D

Green Climate Fund was set up by the 194 countries who are parties to the United Nations Framework Convention on Climate Change (UNFCCC) in 2010, as part of the Convention’s financial mechanism. It aims to deliver equal amounts of funding to mitigation and adaptation. These funds come mainly from developed countries, but also from some developing countries, regions, and one city (Paris). The Fund aims for a 50:50 balance between mitigation and adaptation investments over time. The aim of all GCF activities is to support developing countries limit or reduce their greenhouse gas emissions and adapt to climate change impacts.The Fund is unique in its ability to engage directly with both the public and private sectors in transformational climate-sensitive investments. GCF engages directly with the private sector through its Private Sector Facility (PSF). Hence, statements 2 and 3 are correct and 1 is not correct.

NABARD is the Direct Access Entity (DAE) for Green Climate Fund (GCF) under UNFCCC. NABARD being a DAE of GCF has achieved a milestone by getting approval of a project on “Ground water recharge and Solar Micro Irrigation to ensure food security and enhance resilience in vulnerable tribal areas of Odisha” from 16th GCF Board meeting.

वर्ष 2010 में ग्रीन क्लाइमेट फंड को यूनाइटेड नेशंस फ़्रेमवर्क कन्वेंशन ऑन क्लाइमेट चेंज (UNFCCC) के 194 भागीदार देशों द्वारा, कन्‍वेंशन के वित्तीय तंत्र के एक भाग के रूप में स्थापित किया गया था। इसका उद्देश्‍य शमन और अनुकूलन दोनों के संदर्भ में समान मात्रा में वित्‍तपो‍षण प्रदान करना है। ये निधियाँ मुख्य रूप से विकसित देशों से, परन्तु साथ ही कुछ विकासशील देशों, क्षेत्रों और एक शहर (पेरिस) से आती हैं। इस निधि का उद्देश्‍य शमन और अनुकूलन निवेशों के बीच समय के साथ 50:50 का संतुलन बनाना है। ग्रीन क्लाइमेट फंड (GCF) की सभी गतिविधियों का उद्देश्य, विकासशील देशों को अपने ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन को सीमित करने या कम करने में सहायता करना तथा उनको जलवायु परिवर्तन के प्रभावों के प्रति अनुकूलित करना है। य‍ह फंड अपनी इस क्षमता में विशिष्‍ट है कि यह सार्वजनिक और निजी क्षेत्रकों, दोनों के साथ परिवर्तनकारी जलवायु-संवेदी निवेशों में प्रत्‍यक्ष रूप से सहभागिता स्थापित करता है। GCF अपनी प्राइवेट सेक्टर फैसिलिटी (PSF) के माध्यम से निजी क्षेत्रक के साथ सीधे संलग्न होता है। इसलिएकथन 2 और 3 सही हैं एवं 1 सही नहीं है।

UNFCCC के‍ तहत, ग्रीन क्लाइमेट फंड (GCF) के लिए डायरेक्ट एक्सेस एंटिटी (DAE) ‘नाबार्ड (NABARD)’ है। GCF की डायरेक्ट एक्सेस एंटिटी होने के कारण नाबार्ड ने GCF बोर्ड की 16वीं बैठक में “ओड़िशा के सुभेद्य जनजातीय क्षेत्रों में खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने और लचीलापन बढ़ाने हेतु भूजल पुनर्भरण और सौर आधारित सूक्ष्म सिंचाई” के लिए एक परियोजना का अनुमोदन प्राप्त कर उल्‍लेखनीय सफलता प्राप्त की है।

Q-3 The painting of Bodhisattva Vajrapani is one of the most famous and oft-illustrated paintings at

(a)Varaha caves

(b)Badami caves

(c)Ajanta caves

(d)Udaygiri caves

बोधिसत्व वज्रपाणि का चित्र सर्वाधिक प्रसिद्ध और प्राय:चित्रित चित्रकारी है, जो

(a)वाराह की गुफाओं में है

(b)बादामी की गुफाओं में है

(c)अजंता की गुफाओं में है

(d)उदयगिरि की गुफाओं में है

ANSWER-C

The famous Padmapani and Vajrapani paintings of Bodhisattva are found in Ajanta caves. One can observe certain typological and stylistic variations in the paintings of Ajanta indicating different guilds of artisans working on the cave paintings at Ajanta over the centuries. On the other side of the image Vajrapani Bodhisattva has been painted. He holds a vajra in his right hand and wears a crown. This image also bears the same pictorial qualities as the Padmapani. Cave No. 1 has many interesting paintings of Buddhist themes such as Mahajanak Jataka, Umag Jataka, etc. The Mahajanak Jataka is painted on the entire wall side and is the biggest narrative painting. It may be observed that the paintings of Padmapani and Vajrapani and the Bodhisattvas are painted as shrine guardians. Similar such iconographic arrangement is also observed in other caves of Ajanta. However Padmapani and Vajrapani in Cave No. 1 are among the best survived paintings of Ajanta.

बोधिसत्व के सुप्रसिद्ध पद्मपाणि और वज्रपाणि चित्र अजंता की गुफाओं में मिलते हैं। अजंता के चित्रों में कुछ प्रारूपात्मक (typological) एवं शैलीगत (stylistic) भिन्नताएं देखी जा सकती हैं जो यह संकेत करती हैं कि अजंता में गुफा चित्रकारी भिन्न-भिन्न श्रेणियों (guilds) के शिल्पकारों द्वारा कई शताब्दियों में पूर्ण की गयी है। पद्मपाणि बोधिसत्व  के चित्र के दूसरी ओर वज्रपाणि बोधिसत्व की छवि चित्रित की गई है। उनके दाहिने हाथ में वज्र और सिर पर मुकुट है। इस चित्र में पद्मपाणि के चित्रमय गुण भी मिलते हैं। गुफा नं 1 में बौद्ध विषयों जैसे कि महाजनक जातक, उमग जातक आदि पर कई रोचक चित्रकारियाँ हैं। महाजनक जातक सम्पूर्ण दीवार पर चित्रित है जो सबसे बड़ी कथा चित्रकारी है। यह भी दृष्टव्य है कि पद्मपाणि, वज्रपाणि और बोधिसत्व के चित्रों को मंदिरों के संरक्षक के रूप में चित्रित किया गया है।

अजंता की अन्य गुफाओं में भी लगभग इसी प्रकार की चित्रात्मक-व्यवस्था (iconographic arrangement) देखने को मिलती है। हालाँकि गुफा नंबर 1 के पद्मपाणि

Q-4

‘This state of India has shortest coastline and bordered with five Indian states. The northern part of the state never gets the vertical sunrays at any time of the year.’

Which one of the following could be this state?

(a)

Gujarat

(b)

Karnataka

(c)

Odisha

(d)

West Bengal

‘भारत के इस राज्‍य की तटरेखा सबसे छोटी है तथा पांच भारतीय राज्यों की सीमा को स्पर्श करती है। इस राज्य के उत्तरी भाग में वर्ष में किसी भी समय कभी भी सूर्य की किरणें ऊर्ध्वाधर नहीं होती हैं।’ यह राज्य निम्नलिखित में से कौन-सा हो सकता है?

(a)गुजरात

(b)कर्नाटक

(c)ओडिशा

(d)पश्चिम बंगाल

ANSWER-D

West Bengal has the shortest coastline (157.5 Km) among the given coastal states of India. Its boundary touches with five states that is Odisha, Jharkhand, Bihar, Sikkim and Assam. As the tropic of cancer passes through the state and the northern part of the state lies above it, it does not get the vertical sunrays throughout the year.

दिए गए सभी तटीय राज्यों में सबसे छोटी तटरेखा पश्चिम बंगाल (157.5 किमी) की है। इसकी सीमा पांच राज्यों, अर्थात्, उड़ीसा, झारखंड, बिहार, सिक्किम और असम को स्पर्श करती है। चूँकि कर्क रेखा इस राज्य से होकर गुजरती है और राज्य का उत्तरी भाग इसके ऊपर स्थित है, अत:

Q-5

Which of the following is the objective of Uchchtar Aavishkar Abhiyaan?

(a)to promote industry-specific need-based research so as to keep up the competitiveness of the Indian industry in the global market.

(b)to provide financial support to top public and private higher education institutions to improve their global ranking.

(c)to address the major science and engineering challenges that India must address under a pan-IIT and IISc joint initiative.

(d)to bring together foreign and Indian faculties to teach an academic course to participating students selected from the world’s leading academic institutions.

निम्नलिखित में से कौन-सा उच्‍चतर आविष्कार अभियान का उद्देश्य है?

(a)वैश्विक बाजार में भारतीय उद्योग की प्रतिस्पर्धात्मकता बनाए रखने हेतु उद्योग-विशिष्ट आवश्‍यकता-आधारित अनुसंधान को बढ़ावा देना।

(b)शीर्ष सार्वजनिक तथा निजी उच्च शिक्षा संस्थानों को उनकी वैश्विक रैंकिंग में सुधार लाने हेतु वित्तीय सहायता प्रदान करना।

(c)भारत के समक्ष प्रमुख विज्ञान और इंजीनियरिंग चुनौतियों का समाधान करने के लिए सभी IIT एवं IISc द्वारा की गयी एक संयुक्त पहल।

(d)विश्व के अग्रणी शैक्षणिक संस्थानों से चयनित प्रतिभागी छात्रों को अकादमिक पाठ्यक्रम के शिक्षण    हेतु विदेशी और भारतीय संकायों को एक साथ लाना।

ANSWER-A

The scheme was launched to promote industry-specific need-based research so as to keep up the competitiveness of the Indian industry in the global market. All the IITs have been encouraged to work with the industry to identify areas where innovation is required and come up with solutions that could be brought up to the commercialization level. Under the UAY, it is proposed to invest Rs. 250 crores every year on identified projects proposed by IITs, provided the Industry contributes 25% of the project cost. For the year 2016-17, (92) projects for Rs. 285.15 crore have been approved for implementation.

वैश्विक बाजार में भारतीय उद्योग की प्रतिस्पर्धात्मकता बनाए रखने के लिए उद्योग-विशिष्ट आवश्‍यकता-आधारित शोध को बढ़ावा देने हेतु यह योजना आरंभ की गयी थी। सभी IITs को नवाचार की आवश्यकता वाले क्षेत्रों की पहचान कर उद्योगों के साथ कार्य करने और ऐसे समाधानों के साथ आगे आने के लिए प्रोत्साहित किया गया है जिन्‍हें वाणिज्यिक स्तर पर लाया जा सकता है। UAY के अंतर्गत, IIT द्वारा प्रस्तावित, परियोजनाओं पर प्रति वर्ष 250 करोड़ रुपये निवेश का प्रस्ताव है, बशर्ते कि उद्योग परियोजना लागत का 25%  योगदान करें। वर्ष 2016-17 के लिए,

ALL QUESTION Click Here