UPSC CSE IAS 2021 PRE TEST-3

1-अनुच्छेद 368 के तहत संसद संविधान के ‘मूल ढांचे (basic structure)’ को प्रभावित किए बिना संविधान के किसी भी हिस्से में संशोधन कर सकती है, जिसमें शामिल हैं:

  1. मूल अधिकारों और निदेशक तत्वों के बीच सामंजस्य और संतुलन
  2. समानता का सिद्धांत
  3. स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव
  4. न्यायपालिका की स्वतंत्रता

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) 1, 2

b) 1, 3, 4

c) 2, 4

d) 1, 2, 3, 4

2-दोहरे दण्ड (Double Jeopardy) के विरुद्ध आंशिक संरक्षण है

a) संवैधानिक अधिकार

b) मूल अधिकार

c) CrPC के तहत प्रावधान

d) न्यायिक परिपाटी

3-मिनर्वा मिल्स वाद के अलावा, निम्नलिखित में से कौन-से वाद मूल अधिकारों और निदेशक तत्वों के मध्य सर्वोच्चता से संबंधित हैं?

  1. चंपकम दोरायराजन (1951)
  2. गोलक नाथ (1967)
  3. केशवानंद भारती (1973)
  4. एडीएम जबलपुर (1976)

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) 1, 2

b) 2, 4

c) 1, 2, 3

d) 1, 3, 4

4-प्रवर समितियों (Select Committees) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. कुछ समितियों का गठन किसी विशेष विधेयक की जांच के लिए किया जाता है और इसके सदस्यों में एक ही सदन के सांसद शामिल होते हैं।
  2. लोकसभा की कुछ समितियों की अध्यक्षता लोकसभा अध्यक्ष द्वारा की जाती है।
  3. संसद के सदनों के संचालन के नियमों के अनुसार, संसदीय समितियों के समक्ष विधेयकों को प्रस्तुत करना अनिवार्य है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही नहीं है/हैं?

a) 1, 2

b) 1, 3

c) 2, 3

d) केवल 2

5-उद्देशिका (Preamble) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए

  1. 44वें संवैधानिक संशोधन अधिनियम द्वारा उद्देशिका में तीन नए शब्द यथा समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष और अखंडता जोड़े गए।
  2. उद्देशिका न तो विधायिका की शक्ति का स्रोत है और न ही विधायिका की शक्तियों पर प्रतिबंध आरोपित करती है।
  3. केशवानंद भारती मामले में, सर्वोच्च न्यायालय ने निर्णय दिया कि उद्देशिका संविधान का भाग है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

a) 2, 3

b) 1, 3

c) केवल 2

d) 1, 2

6-विश्व वन्यजीव कोष (World Wildlife Fund: WWF)के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. इसका अंटार्कटिका में भी एक कार्यालय / शाखा है।
  2. इसे रियो अर्थ समिट, 1992 के ठीक बाद स्थापित किया गया था।
  3. WWF-इंडिया, सतत विकास लक्ष्यों (SDGs) के तहत संरक्षण लक्ष्यों को लागू करने के लिए भारत की नोडल एजेंसी है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही नहीं है/हैं?

a) केवल 1

b) 1, 2

c) 2, 3

d) 1, 2, 3

7-विदेशी प्रजातियाँ (exotic species), देशज पारिस्थितिकी तंत्र जैसे कि झील या अंडमान में एक पृथक द्वीप के लिए खतरा क्यों उत्पन्न करती हैं?

  1. ऐसी प्रजातियां भोजन के लिए स्थानीय या देशी प्रजातियों से प्रतिस्पर्धा करती हैं।
  2. वे स्थानीय प्रजातियों के शिकारी हो सकते हैं।
  3. ऐसी प्रजातियों से मूल प्रजातियों में रोग उत्पन्न हो सकते हैं।

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) 1, 2

b) 1, 3

c) 1, 2, 3

d) 2, 3

8-सर्वाधिक प्रवाल प्रजातियां निम्नलिखित किस महासागर/सागर में पाई जाती हैं?

a) प्रशांत महासागर

b) अटलांटिक महासागर

c) हिंद महासागर

d) भूमध्य सागर

9-निम्नलिखित में से कौन राजस्व व्यय का एक हिस्सा है?

  1. वेतन
  2. रक्षा व्यय
  3. प्रमुख सब्सिडी
  4. नई अवसंरचना परियोजनाओं हेतु व्यय

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) 1, 3, 4

b) 1, 2, 3

c) 1, 3

d) 1, 2, 3, 4

10-राजकोषीय समेकन (Fiscal Consolidation) को बढ़ावा देने के लिए निम्नलिखित में से कौन-सा/से उपाय अपनाया/अपनाये जा सकता/सकते है/हैं?

  1. सब्सिडी को बढ़ावा देना
  2. कर आधार को बढ़ावा देना
  3. निर्यात उन्मुख उद्योगों को बढ़ावा देना

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) 2, 3

b) 1, 3

c) केवल 2

d) 1, 2, 3

11-.निम्नलिखित में से कौन-सा/से उपाय भारत में कराधान आधार में वृद्धि कर सकता/सकते है/हैं?

  1. कृषि आय को आयकर के दायरे में शामिल करना
  2. उद्यमशीलता की गतिविधियों को प्रोत्साहित करना
  3. नकद लेनदेन को बढ़ावा देना

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) 2, 3

b) 1, 2

c) केवल 1

d) 1, 2, 3

12.आर्यावर्त, मध्यदेश और दक्षिणापथ संदर्भित करते हैं

a) पूर्वी गंगा के मैदानों के आर्यों के राज्य को।

b) कुरु साम्राज्य के शासकों को प्रदत्त उपाधियों को।

c) उत्तर वैदिक ग्रंथों में भारत के विभाजन के उल्लेख को।

d) उपर्युक्त में से कोई नहीं

13-स्थायी बंदोबस्त के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. स्थायी बंदोबस्त एक समझौता था, जिसके द्वारा ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा राजस्व निर्धारित किया गया था जिसे प्रत्येक जमींदार को चुकाना पड़ता था।
  2. स्थायी बंदोबस्त शुरू करने के पीछे राजस्व संग्रह एकमात्र उद्देश्य था और ब्रिटिश अधिकारियों का किसानों की समस्याओं को हल करने का कोई मंतव्य नहीं था।
  3. जब स्थायी बंदोबस्त शुरू की गयी थी तब बंगाल के गवर्नर जनरल चार्ल्स कॉर्नवॉलिस था।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

a) 1, 2

b) 1, 3

c) 2, 3

d) केवल 1

14-स्थायी बंदोबस्त के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. स्थायी बंदोबस्त आरंभ में बंगाल में ही शुरू की गई थी और यह उत्तरी भारत तक ही सीमित थी।
  2. चार्टर एक्ट 1833 ने स्थायी बंदोबस्त को वैधानिक मान्यता प्रदान की।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

a) केवल 1

b) केवल 2

c) 1 और 2 दोनों

d) न तो 1, न ही 2

15-निम्नलिखित में से किस राग का आमतौर पर प्रातःकाल में गायन किया जाता है?

a) राग दरबारी

b) टोडी

c) राग भोपाली

d) भीमपलासी

16-“मसीतखानी शैली” किससे संबंधित है

a) तानसेन

b) जहाँगीर

c) इब्राहिम लोदी

d) दारा सिकोह

17-निम्नलिखित में से कौन-सा/से यूरोपीय कलाकारों के आगमन के साथ भारतीय चित्रकला में परिवर्तन हुआ/हुए था/थे?

  1. यथार्थवादी विचारों का समावेशन।
  2. वाटर कलर तकनीक का उपयोग।

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) केवल 1

b) केवल 2

c) 1 और 2 दोनों

d) न तो 1, न ही 2

18-काला सागर के निकट सबसे लंबी तटीय रेखा वाला देश है

a) जॉर्जिया

b) बुल्गारिया

c) तुर्की

d) अजरबैजान

19-डेल्टा के निर्माण के लिए निम्नलिखित में से कौन–सी परिस्थितियां अनुकूल हैं?

  1. तट को सुरक्षित होना चाहिए, मुख्य रूप से ज्वारीय तरंगों से।
  2. डेल्टा से संलग्न समुद्र को उथला होना चाहिए।
  3. नदी जलमार्ग में कोई बड़ी झील नहीं होनी चाहिए।

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) 1, 2

b) 2, 3

c) 1, 3

d) 1, 2, 3

20-निम्नलिखित में से कौन-सी प्रक्रिया पृथ्वी पर खनिजों की सांद्रता में सहायता करती है/हैं?

  1. जलतापीय निक्षेप
  2. अपक्षय
  3. जलीय अपरदन

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) 1, 2

b) केवल 2

c) 2, 3

d) 1, 2, 3

21-टॉरफिकेशन टेक्नोलॉजी (Torrefaction technology) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. टॉरफिकेशन एक स्वीडिश तकनीक है जो चावल के ठूंठ को जैव खाद में परिवर्तित करती है।
  2. प्रौद्योगिकी के अंतर्गत अत्यधिक तापमान पर पुआल, घास, आरा मिल अवशेष और लकड़ी बायोमास को गर्म किया जाता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

a) केवल 1

b) केवल 2

c) 1 और 2 दोनों

d) न तो 1, न ही 2

22-हाल ही में समाचारों में चर्चित ‘कैनाबिडियोल (CBD) आयल‘ के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. CBD आयल कैनबिस पौधे का एक अर्क है।
  2. यह सिद्ध करने के लिए पर्याप्त वैज्ञानिक प्रमाण हैं कि CBD आयल सुरक्षित और प्रभावी रूप से कैंसर का उपचार कर सकता है।
  3. ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक्स एक्ट, 1940 द्वारा जारी लाइसेंस के तहत निर्मित CBD आयल का कानूनी रूप से उपयोग किया जा सकता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

a) केवल 1

b) 1, 2

c) 1, 3

d) 2, 3

23-इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट (InvIT) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट, म्यूचुअल फंडों के समान होते हैं, जो निवेशकों की विभिन्न श्रेणियों से निवेश प्राप्त करते हैं और केवल पूर्ण अवसंरचना परियोजनाओं में ही निवेश करते हैं।
  2. भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAIs) InvIT एक ट्रस्ट है जिसे NHAI द्वारा भारतीय ट्रस्ट अधिनियम, 1882 और SEBI नियमों के तहत स्थापित किया गया है।
  3. भारत में, सड़क, विद्युत पारेषण, गैस पारेषण और दूरसंचार टावरों के क्षेत्रों में InvIT का गठन करने की अनुमति है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-से सही हैं?

a) 1, 2

b) 2, 3

c) 1, 3

d) 1, 2, 3

24-ब्रुसेलोसिस (Brucellosis) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. ब्रुसेलोसिस एक जीवाणु जनित रोग है जो मुख्य रूप से मवेशियों, सूअर, बकरियों, भेड़ों और कुत्तों को संक्रमित करता है।
  2. संक्रमित जानवरों के सीधे संपर्क में आने संक्रमित हो सकता है, लेकिन दूषित पशु उत्पादों को खाने या पीने से मनुष्य संक्रमित नहीं होता है।
  3. वायरस के मानव से मानव संचरण दुर्लभ है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-से सही हैं?

a) 1, 2

b) 2, 3

c) 1, 3

d) 1, 2, 3

25-अफ्रीकन स्वाइन फीवर (AFS) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. AFS एक गंभीर वायरल बीमारी है जो जंगली और घरेलू सूअरों को प्रभावित करती है जिसके परिणामस्वरूप आम तौर पर तीव्र रक्तस्रावी (haemorrhagic) बुखार होता है।
  2. इस बीमारी की लगभग 100 प्रतिशत केस फैटलिटी रेट (CFR) है।
  3. जैविक वाहक जैसे टिक्स, इस रोग को प्रसारित कर सकते हैं।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-से सही हैं?

a) 1, 2

b) 2, 3

c) 1, 3

d) 1, 2, 3

ANSWERS

1-उत्तर: d)

  • भले ही ‘मूल ढांचे’ का सिद्धांत उच्चतम न्यायालय द्वारा दिया गया था, फिर भी इसके द्वारा संविधान के ‘मूल ढांचे’ के अंतर्गत शामिल तत्वों को परिभाषित या स्पष्ट किया गया है। संविधान में ‘मूल ढांचे’ का कहीं भी उल्लेख नहीं किया गया है।

निम्नलिखित संविधान के ‘मूल ढांचे’ के अंतर्गत शामिल हैं:

  • संविधान की सर्वोच्चता; भारतीय राजनीति का सार्वभौम, लोकतांत्रिक और गणतंत्रात्मक स्वरूप; संविधान का पंथनिरपेक्ष चरित्र
  • विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका के बीच शक्तियों का पृथक्करण; संविधान का संघीय चरित्र; राष्ट्र की एकता और अखंडता; कल्याणकारी राज्य (सामाजिक-आर्थिक न्याय)
  • न्यायिक समीक्षा; स्वतंत्रता और व्यक्ति की गरिमा; संसदीय प्रणाली; विधि का शासन; मूल अधिकारों और निदेशक तत्वों के बीच सामंजस्य और संतुलन; समानता का सिद्धांत
  • स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव; न्यायपालिका की स्वतंत्रता; संविधान में संशोधन करने के लिए संसद की सीमित शक्ति; न्याय तक प्रभावी पहुंच; तर्कशीलता का सिद्धांत; अनुच्छेद 32, 136, 141 और 142 के तहत सर्वोच्च न्यायालय की शक्तियाँ; अनुच्छेद 226 और 227 के तहत उच्च न्यायालयों की शक्तियाँ।

2-उत्तर: b)

  • दोहरे दण्ड (Double Jeopardy) के विरुद्ध आंशिक संरक्षण, भारत के संविधान के अनुच्छेद 20 (2) के तहत एक मूल अधिकार है, जिसमें कहा गया है कि “किसी व्यक्ति को एक ही अपराध के लिए एक बार से अधिक अभियोजित और दंडित नहीं किया जाएगा”।

3-उत्तर: c)

  • चंपकम दोरायराजन वाद (1951) में, सर्वोच्च न्यायालय ने निर्णय दिया कि मूल अधिकारों और निदेशक तत्वों के बीच किसी भी संघर्ष के मामले में, मूल अधिकार प्रभावी होंगे। इसने घोषणा की कि निदेशक तत्व, मूल अधिकारों के लिए सहायक के रूप में होंगे।
  • गोलकनाथ मामले (1967) में सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के बाद उपर्युक्त स्थिति में एक बड़ा परिवर्तन किया गया। इस मामले में, सर्वोच्च न्यायालय ने निर्णय दिया कि संसद किसी भी मूल अधिकार को नहीं छीन सकती है। दूसरे शब्दों में, न्यायालय ने निर्देश दिया कि निदेशक तत्वों के कार्यान्वयन के लिए मूल अधिकारों में संशोधन नहीं किया जा सकता है।
  • केशवानंद भारती मामले (1973) में, सर्वोच्च न्यायालय ने अनुच्छेद 31C के एक विशेष प्रावधान को इस आधार पर असंवैधानिक और अवैध घोषित कर दिया कि न्यायिक समीक्षा संविधान के मूल ढांचे का भाग है और इसलिए, इसे छीना नहीं जा सकता है।
  • एडीएम जबलपुर v शिवकांत शुक्ल वाद – 1976: इस ऐतिहासिक निर्णय में, सर्वोच्च न्यायालय ने घोषणा की कि अनुच्छेद 14, 21 और 22 के उल्लंघन पर न्यायालय जाने के नागरिकों के अधिकार आपात स्थिति के दौरान निलंबित रहेंगे।

4-उत्तर: c)

प्रवर समिति (Select Committees)?

  • यह किसी विशेष विधेयक की जांच के लिए गठित किया जाता है और इसके सदस्यों में एक ही सदन के सांसद शामिल होते हैं।
  • उनकी अध्यक्षता सत्तारूढ़ दल के सांसद करते हैं।
  • चूंकि कुछ समितियों का गठन एक विशिष्ट उद्देश्य के लिए किया जाता है, इसलिए उन्हें उनकी रिपोर्ट के बाद भंग कर दिया जाता है।

5-उत्तर: a)

  • 42वें संवैधानिक संशोधन अधिनियम (1976) द्वारा उद्देशिका में तीन नए शब्द यथा समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष और अखंडता जोड़े गए।
  • उद्देशिका न तो विधायिका की शक्ति का स्रोत है और न ही विधायिका की शक्तियों पर प्रतिबंध आरोपित करती है।
  • यह गैर-न्यायोचित है, अर्थात्, इसके प्रावधानों को न्यायालयों द्वारा लागू नहीं करवाया जा सकता है।
  • केशवानंद भारती मामले में, सर्वोच्च न्यायालय ने निर्णय दिया कि उद्देशिका संविधान का भाग है।

6-उत्तर: d)

  • उल्लेखनीय है कि अंटार्कटिका में इसका कोई कार्यालय नहीं है, इसका कार्यालय केवल 6 महाद्वीपों में ही स्थित है।
  • इसे 1961 में चैरिटेबल पब्लिक ट्रस्ट (1992 में रियो शिखर सम्मेलन) के रूप में स्थापित किया गया था। तब इसे विश्व वन्यजीव कोष-भारत (World Wildlife Fund-India) के रूप में जाना जाता था।
  • नीति आयोग (NITI Aayog) SDGs की नोडल एजेंसी है।

7-उत्तर: c)

  • नए वातावरण में विदेशी प्रजातियां प्राय: उस नए पर्यावास स्थान में पारिस्थितिक स्थितियों को परिवर्तित करती हैं, जिससे वहां मौजूद प्रजातियों के समक्ष खतरा उत्पन्न हो सकता है; यही कारण है कि उन्हें आक्रामक प्रजाति (invasive species) भी कहा जाता है।
  • आक्रामक प्रजातियां जो दुर्लभ देशज प्रजातियों से निकटता से संबंधित होती हैं, इनमें देशज प्रजातियों के साथ संकरण करने की क्षमता होती है; संकरण के हानिकारक प्रभावों के कारण देशज प्रजातियों का भी ह्रास हुआ है।
  • आक्रामक प्रजातियां देशज खाद्य स्रोतों को नष्ट या प्रतिस्थापित करके एक पारिस्थितिकी तंत्र में खाद्य जाल को परिवर्तित कर सकती हैं। आक्रामक प्रजाति वन्यजीवों के लिए किस प्रकार का भोजन प्रदान नहीं करती हैं।
  • झीलों और द्वीपों को आक्रामक प्रजातियों से विलुप्त होने का खतरा है।

8-उत्तर: a)

  • रीफ का निर्माण करने वाले कोरल भौगोलिक कारकों जैसे कि जल का तापमान और लवणता (नमक सामग्री) से प्रतिबंधित होते हैं। स्वच्छ जल की उपलब्धता होनी चाहिए जिसमें सूर्य प्रकाश प्रवेश करना चाहिए।
  • इन पर्यावरण प्रतिबंधों के कारण, रीफ आमतौर पर उष्णकटिबंधीय और अर्ध-उष्णकटिबंधीय महासागरों तक ही सीमित हैं। रीफ कोरल (प्रजातियों की संख्या) की विविधता, उच्च अक्षांशों में लगभग 30° उत्तर और दक्षिण तक घट जाती है, जिसके आगे आमतौर पर रीफ कोरल नहीं पाए जाते हैं।
  • आम तौर पर, प्रशांत महासागर की रीफ में लगभग दो गुना अधिक प्रजातियां पाई जाती हैं, जैसे अटलांटिक महासागर की रीफ।

9-उत्तर: b)

  • राजस्व व्यय के अंतर्गत सरकारी विभागों के सामान्य कामकाज और विभिन्न सेवाओं के लिए किया जाने वाला व्यय, सरकार द्वारा ऋण पर ब्याज शुल्क, सब्सिडी आदि को शामिल किया जाता है। मोटे तौर पर, व्यय जिसके परिणामस्वरूप परिसंपत्ति का निर्माण नहीं होता है, राजस्व व्यय कहलाता है। राज्य सरकारों और अन्य पक्षों को दिए गए सभी अनुदानों को राजस्व व्यय के रूप में ही माना जाता है, हालांकि कुछ अनुदान के माध्यम से परिसंपत्तियों का निर्माण हो सकता है।
  • पूंजीगत व्यय आमतौर पर किसी कंपनी (सरकार) द्वारा परिसंपत्ति, नई अवसंरचनात्मक परियोजनाओं या नए उपकरण खरीदने जैसे भौतिक परिसंपत्तियों के अधिग्रहण, रखरखाव या उन्नयन के लिए उपयोग किए जाने वाले व्यय को दर्शाता है।
  • जब सरकार बड़ी परियोजनाओं पर व्यय करती है, तो आमतौर इस प्रकार के व्यय को पूंजीगत व्यय के रूप में वर्गीकृत किया जाता है। इस तरह के व्यय आवर्ती प्रकृति के नहीं होते हैं।

10-उत्तर: a)

  • राजकोषीय समेकन सरकारों की (राष्ट्रीय और उप-राष्ट्रीय स्तर पर) उन नीतियों को संदर्भित करता जिसके द्वारा वह अपने घाटे और ऋण स्टॉक में करने का प्रयास करती है।
  • सब्सिडी बढ़ने से सरकार का व्यय बढ़ता है। इस प्रकार, यह राजकोषीय समेकन के सिद्धांत के विपरीत है।
  • कर आधार बढ़ने से कर संग्रह बढ़ता है। इस प्रकार, यह सरकार के राजस्व को बढ़ाता है और साथ ही, राजकोषीय समेकन को बढ़ावा देता है।
  • निर्यात उन्मुख उद्योगों का समर्थन करने से देश के विदेशी मुद्रा भंडार को बढ़ाने में मदद मिलती है। इस प्रकार, यह राजकोषीय समेकन को बढ़ावा देने में मदद करता है।

11-उत्तर: b)

  • कर आधार परिसंपत्ति या राजस्व की वह कुल राशि होती है जिस पर सरकार कर अधिरोपित करती है।
  • कर आधार बढ़ाने के लिए भारत को अधिक क्षेत्रों को कर व्यवस्था के दायरे में लाना चाहिए। इस प्रकार, कृषि क्षेत्र को आयकर के दायरे में लाने से कर आधार बढ़ने की संभावना है।
  • उद्यमशीलता की गतिविधियों को प्रोत्साहित करने से मौजूदा कंपनियों के लाभ में वृद्धि होगी और साथ ही नई कंपनियों के विकास को बढ़ावा मिलेगा। इस प्रकार, इससे कर आधार बढ़ने की संभावना है।
  • नकद लेनदेन को बढ़ावा देने से अर्थव्यवस्था में अत्यधिक धन की वृद्धि होगी। इस प्रकार, काले धन में वृद्धि हो सकती है। इसलिए, इससे कर आधार बढ़ने की संभावना नहीं है।

 

12-उत्तर: c)

उत्तर वैदिक ग्रंथों में भारत के तीन हिस्सों – आर्यावर्त (उत्तरी भारत), मध्यदेश (मध्य भारत) और दक्षिणापथ (दक्षिणी भारत) का उल्लेख मिलता है।

13-उत्तर: b)

  • स्थायी बंदोबस्त 1793 में लागू हुई थी। इसके द्वारा ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा राजस्व निर्धारित किया गया था जिसे प्रत्येक जमींदार को चुकाना पड़ता था।
  • स्थायी बंदोबस्त की शुरुआत करने में, ब्रिटिश अधिकारियों ने बंगाल की विजय के बाद की समस्याओं को हल करने का प्रयास किया था। 1770 के दशक तक, बारम्बार अकाल और कृषि उत्पादन में गिरावट के कारण बंगाल में ग्रामीण अर्थव्यवस्था संकट में थी। अधिकारियों को महसूस हुआ कि कृषि में निवेश को प्रोत्साहित करके कृषि, व्यापार और राज्य के राजस्व संसाधनों को विकसित किया जा सकता है।

14-उत्तर: d)

  • स्थायी बंदोबस्त आरंभ में बंगाल और बिहार में तथा बाद में उत्तरी मद्रास और वाराणसी में शुरू की गई थी। यह प्रणाली अंततः 1 मई 1793 को जारी विनियमों की एक श्रृंखला द्वारा उत्तर भारत में लागू हो गई। ये नियम 1833 के चार्टर अधिनियम तक लागू रहे।

15-उत्तर: b)

  • प्रातःकाल में टोडी का गायन किया जाना चाहिए। यह एक हिंदुस्तानी शास्त्रीय राग है, जिसे संगीतज्ञ भातखंडे के अनुसार दस प्रकार के शास्त्रीय संगीतों में से एक टोडी थाट के रूप में जाना जाता है। टोडी को सदैव एक सौम्य, सुंदर महिला के रूप में दिखाया जाता है, जो हाथ में वीणा लिए हुए और जो एक सुंदर हरे वन में खड़ी हुई है, जिसके चारों ओर हिरण खड़े हुए हैं।
  • राग भोपाली को सूर्यास्त के बाद गाया जाना चाहिए।
  • भीमपलासी को दोपहर के समय गाया जाना चाहिए।
  • राग दरबारी कन्नड़ परिवार का एक राग है, जिसका उद्गम कर्नाटक संगीत घराने में हुआ था और सम्राट अकबर के दरबार में 16वीं शताब्दी के संगीतकार मियाँ तानसेन द्वारा उत्तर भारतीय संगीत में लाया गया था।

16-उत्तर: a)

  • सितार वादन की “सेनिया” शैली सितार के प्रसिद्ध महान गुरु, तानसेन परिवार के उस्ताद मसीत सेन के साथ शुरू हुई थी, जो “मसीतखानी शैली” के प्रवर्तक थे।
  • “सेनिया” शब्द भारतीय शास्त्रीय संगीत के जनक तानसेन से संबंधित है। “घराना” शब्द का अर्थ संगीत की एक शैली से है। तानसेन की संगीत शैली के अनुयायियों को व्यापक रूप से “सेनिया घराना” (यानी “सेनिया” शैली / संगीत शैली) के अनुयायियों के रूप में जाना जाता है।

17-उतर: a)

  • अठारहवीं शताब्दी से भारत में ब्रिटिश व्यापारियों और शासकों के साथ यूरोपीय व्यापारियों का आगमन भी हुआ। इन कलाकारों के साथ चित्रकला की एक नई शैली का आगमन हुआ।
  • उन्होंने ऐसे चित्रों का चित्रण शुरू किया जो यूरोप में व्यापक रूप से लोकप्रिय हो गए और भारत में पश्चिमी शैली को आकार देने में मदद किया।
  • यूरोपीय कलाकार द्वारा यथार्थवादी विचारों का समावेशन किया गया। इसमें कलाकारों द्वारा अपनी आँखों से देखे गए दृश्यों का ईमानदारीपूर्वक चित्रण किया जाता था। इनके द्वारा चित्रित चित्र वास्तविक और जीवंत होते थे।
  • यूरोपीय कलाकारों के साथ तेल चित्रकला (ऑयल पेंटिंग) की तकनीक भी आई थी। यह एक ऐसी तकनीक थी जिसके बारे में भारतीय कलाकार अधिक परिचित नहीं थे। तेल चित्रकला ने कलाकारों को वास्तविक दिखने वाले चित्रों के चित्रण में सक्षम बनाया।

 

18-उत्तर: c)

19-उत्तर: d)

  • डेल्टा के निर्माण को प्रभावित करने वाले कारक:
  • अवसादों की उपलब्ध मात्रा और प्रकार, तट के जलस्तर में परिवर्तन, वनस्पति और समुद्री जीवों की वृद्धि पर जलवायु का प्रभाव। इसके अलावा, समकोण पर प्रवाहित होने वाली धाराओं का अभाव होना चाहिए, जो अवसादों के एकत्रीकरण को बाधित कर सकती है। इसके अलावा, यदि कोई बड़ी झील मौजूद है, तो रास्ते में सभी अवसाद झील में ही जमा हो जाएंगे और डेल्टा का निर्माण नहीं हो पायेगा।

 

20-उत्तर: d)

  • खनिजों का निर्माण कई अन्य तरीकों से भी हो सकता है:
  • जलीय घोल से (यानी, भूमि में गर्म जल के प्रवाहित होने से, झील या अंतर्देशीय समुद्रया कुछ मामलों में, सीधे समुद्री जल से वाष्पीकरण से)।
  • कायांतरण (Metamorphism) – मौजूदा खनिजों के भीतर मौजूद तत्वों से उच्च तापमान और दाब की परिस्थितियों में नवीन खनिजों का निर्माण।
  • अपक्षय (Weathering) – पृथ्वी की सतह पर मौजूद अस्थिर खनिजों का अन्य खनिजों में परिवर्तित होना।
  • कार्बनिक गठन (Organic formation) – जीवों द्वारा कंकाल, दन्त और हड्डियों के भीतर खनिजों का निर्माण।
  • जलतापीय निक्षेप (Hydrothermal deposits) का निर्माण भूजल के गहराई में प्रवाहित हो जाने और गहराई में गर्म आग्नेय चट्टानों या भूताप के सम्पर्क में आने से होता है।

21-उत्तर: b)

  • दिल्ली में वायु की गुणवत्ता में तेजी से गिरावट में सर्दियों में जलने वाली पराली से उत्पन्न होने वाले प्रदूषण का महत्वपूर्ण योगदान है। यह प्रक्रिया अनवरत जारी है। इस समस्या का हल खोजने के लिए, भारत द्वारा स्वीडिश टॉरफिकेशन तकनीक का परीक्षण कर रहा जो चावल के ठूंठ को ‘जैव-कोयला’ में बदल सकती है।
  • प्रौद्योगिकी में पुआल, घास, आरा मिल अवशेष और लकड़ी बायोमास को 250 डिग्री सेल्सियस – 350 डिग्री सेल्सियस तक गर्म किया जाता है।

22-उत्तर: c)

  • CBD आयल कैनबिस पौधे का एक अर्क है।
  • यह सिद्ध करने के लिए पर्याप्त वैज्ञानिक प्रमाण मौजूद नहीं हैं कि CBD आयल सुरक्षित और प्रभावी रूप से कैंसर का उपचार कर सकता है।
  • नार्कोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रॉपिक सब्सटेंस एक्ट, 1985 (NDPS Act) कैनबिस के आनंदप्रद उपयोग को रेखांकित करता है। ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक्स एक्ट, 1940 द्वारा जारी लाइसेंस के तहत निर्मित CBD आयल का कानूनी रूप से उपयोग किया जा सकता है। हालाँकि, एक दवा के रूप में कैनबिस का उपयोग भारत में ज्यादा प्रचलित नहीं है।

23-उत्तर: b)

  • इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट, म्यूचुअल फंडों के समान होते हैं, जो निवेशकों की विभिन्न श्रेणियों से निवेश प्राप्त करते हैं और केवल पूर्ण अवसंरचना परियोजनाओं में ही निवेश करते हैं और उन्हें पूर्ण और राजस्व-सृजक अवसंरचना परियोजनाओं में निवेश करते हैं, जिससे निवेशकों को रिटर्न प्राप्त होता है। पूंजी बाजार नियामक द्वारा 26 सितंबर, 2014 को सेबी (इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट्स) विनियम, 2014 को अधिसूचित किया गया और इन ट्रस्टों के बुनियादी ढांचे के क्षेत्र में निवेश को सुविधाजनक बनाने में मदद करने की संभावना है।
  • NHAI का InvIT, भारतीय ट्रस्ट अधिनियम, 1882 और SEBI के नियमों के तहत NHAI द्वारा स्थापित एक ट्रस्ट होगा।
  • भारतीय InvIT बाजार अभी परिपक्व नहीं है और इसने अभी तक सड़कों, बिजली पारेषण, गैस पारेषण और दूरसंचार क्षेत्रों में 10 InvIT का गठन किया है।

24-उतर: c)

  • ब्रुसेलोसिस एक जीवाणु रोग है जो मुख्य रूप से मवेशियों, सूअर, बकरियों, भेड़ों और कुत्तों को संक्रमित करता है। संक्रमित जानवरों के सीधे संपर्क में आने या दूषित जानवरों के उत्पादों को खाने या पीने से या एयरबोर्न एजेंटों के संपर्क में आने से मनुष्य संक्रमित हो सकता है। WHO के अनुसार, बीमारी के अधिकांश मामले संक्रमित बकरियों या भेड़ों से अनपेक्षित दूध या पनीर के सेवन के कारण होते हैं।
  • रोग के लक्षणों में बुखार, पसीना आना, अस्वस्थता, एनोरेक्सिया, सिरदर्द और मांसपेशियों में दर्द शामिल हैं। जबकि कुछ संकेत और लक्षण लंबे समय तक मौजूद रह सकते हैं। इनमें आवर्तक बुखार, गठिया, अंडकोष और अंडकोश की थैली की सूजन, हृदय की सूजन, तंत्रिका संबंधी लक्षण, थकान, अवसाद और यकृत या प्लीहा की सूजन शामिल हैं।

25-उत्तर: d)

  • अफ्रीकन स्वाइन फीवर (AFS) : COVID-19 लॉकडाउन के बीच, ASF के प्रकोप से असम और अरुणाचल प्रदेश में हजारों सूअर मर गए। AFS एक गंभीर वायरल बीमारी है जो जंगली और घरेलू सूअरों को प्रभावित करती है जिसके परिणामस्वरूप आम तौर पर तीव्र रक्तस्रावी बुखार होता है। इस बीमारी की लगभग 100 प्रतिशत केस फैटलिटी रेट (CFR) है। संक्रमित या जंगली सुअर (जीवित या मृत) के साथ सीधा संपर्क से संक्रमण हो सकता है। भोजन सामग्री, फ़ीड या कचरा जैसे दूषित पदार्थों के अंतर्ग्रहण या जैविक वैक्टर जैसे टिक्स के माध्यम से अप्रत्यक्ष संक्रमण हो सकता है।