UPSC CSE IAS 2021 PRE TEST-5

1-भारत की “संप्रभुता” का अर्थ है

  1. कोई भी बाहरी शक्ति भारत सरकार को आदेश नहीं दे सकती है।
  2. नागरिकों के साथ किसी भी आधार पर भेदभाव नहीं किया जा सकता है।
  3. भारतीय नागरिकों को वाक् और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता प्राप्त होती है।

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) 1, 2

b) केवल 1

c) 1, 3

d) 1, 2, 3

2-निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए

  1. 44वें संवैधानिक संशोधन ने उद्देशिका में तीन नए शब्द नामतः समाजवादी, पंथनिरपेक्ष और अखंडता जोड़े गए थे।
  2. भारतीय संविधान की उद्देशिका उद्देश्य प्रस्ताव पर आधारित है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

a) केवल 1

b) केवल 2

c) 1 और 2 दोनों

d) न तो 1, न ही 2

3.संविधान के निम्नलिखित अनुच्छेदों में से कौन-से जनजातीय अधिकारों से संबंधित हैं?

  1. अनुच्छेद 14
  2. अनुच्छेद 15
  3. अनुच्छेद 16
  4. अनुच्छेद 30

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) 1, 3, 4

b) 1, 2, 3

c) 1, 2, 4

d) 1, 2, 3, 4

4-ब्लैक कार्बन के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. इसका निर्माण जीवाश्म ईंधन के अपूर्ण दहन के माध्यम होता है।
  2. यह अल्प समय के लिए विद्यमान रहने वाला एक जलवायु प्रदूषक है।
  3. बर्फ पर निक्षेपित होने पर यह बर्फ के तापन की दर को तीव्र कर देता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-से सही हैं?

a) 1, 2

b) 2, 3

c) 1, 3

d) 1, 2, 3

5-फ्लाई एश (fly ash) का अत्यधिक उत्सर्जन निम्नलिखित हानिकारक पर्यावरणीय प्रभावों में से किसको उत्पन्न कर सकती है/हैं?

  1. यह भूजल में विषैली भारी धातुओं के निक्षालन का कारण बन सकता है।
  2. इसमें क्रिस्टलीय सिलिका होती है जो सिलिकोसिस का कारण बन सकता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

a) केवल 1

b) केवल 2

c) 1 और 2 दोनों

d) न तो 1, न ही 2

6-वे कौन से स्रोत हैं जो वायुमंडल में नाइट्रोजन ऑक्साइड की वृद्धि करते हैं?

  1. मृदा में रहने वाले जीवाणु
  2. ओजोन के साथ होने वाली पराबैंगनी विकिरण की प्रतिक्रिया
  3. तड़ित की घटना

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) 1, 2

b) 1, 3

c) 2, 3

d) 1, 2, 3

7-बायोरिएक्टर (Bioreactors) का उपयोग किया जा सकता है

  1. सीवेज और अपशिष्ट जल का उपचार करने हेतु
  2. शैवाल जैसे फोटोट्रॉफिक जीवों को विकसित करने हेतु

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही नहीं है/हैं?

a) केवल 1

b) केवल 2

c) 1 और 2 दोनों

d) न तो 1, न ही 2

8-सरकार द्वारा किए जाने वाले निम्नलिखित नीतिगत उपायों पर विचार कीजिए:

  1. अविकसित राष्ट्रों को विदेशी सहायता में वृद्धि करना
  2. आयात शुल्क में वृद्धि करना
  3. निर्यात सब्सिडी प्रदान करना

चालू खाता घाटे (CAD) को कम करने के लिए ऊपर दिए गए कौन से नीतिगत उपायों का उपयोग किया जा सकता हैं?

a) 1, 3

b) 2, 3

c) 1, 3

d) 1, 2, 3

9-उपकर (Cess) और कर (Tax) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष करों पर उपकर लगाया जाता है।
  2. किसी विशेष उद्देश्य के लिए एकत्रित उपकर को अन्य प्रयोजनों के लिए उपयोग नहीं किया जा सकता है
  3. जहाँ सभी करों को भारत की समेकित निधि (CFI) में जमा किया जाता है, वहीं उपकरों को भारत के सार्वजनिक खाते में जमा किया जाता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-से सही हैं?

a) 1, 2

b) 1, 3

c) 2, 3

d) 1, 2, 3

10-अप्रत्यक्ष करों के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. अप्रत्यक्ष कर सरकार द्वारा वस्तुओं और सेवाओं पर लगाया गया कर होता है, न कि किसी व्यक्ति के लाभ या राजस्व पर।
  2. अप्रत्यक्ष करों को प्रतिगामी कर तंत्र कहा जाता है क्योंकि इनकी दर प्रत्यक्ष करों की तुलना में अधिक होती है।
  3. टैक्स का कैस्केडिंग प्रभाव एक ऐसी स्थिति होती है जिसमें किसी भी वस्तु या सेवा के अंतिम-उपभोक्ता को पहले से गणना किए गए कर का भुगतान करना पड़ता है और परिणामस्वरूप बढ़ी हुई कीमत को वहन करना पड़ता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-से सही हैं?

a) 1, 2

b) 1, 3

c) 2, 3

d) 1, 2, 3

11-‘प्राथमिक घाटा (Primary Deficit)’ संदर्भित करता है

a) राजकोषीय घाटा – ब्याज भुगतान

b) राजस्व घाटा – पूंजी निर्माण के लिए अनुदान

c) राजस्व घाटा – राज्यों और स्थानीय निकायों को अनुदान

d) बजटीय घाटा – पूंजीगत घाटा

12-.एक बैंक अपने वैधानिक तरलता अनुपात (Statutory Liquidity Ratio: SLR) दायित्वों को निम्नलिखित में से किस रूप में पूरा करने का निर्णय ले सकता है?

  1. सरकारी प्रतिभूति होल्डिंग्स
  2. गोल्ड होल्डिंग्स या सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड्स (SGBs)
  3. वॉलेट कैश

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) केवल 3

b) 1, 2

c) 2, 3

d) 1, 2, 3

13-निम्नलिखित घटनाओं पर विचार कीजिए:

  1. प्रथम आंग्ल-मैसूर युद्ध
  2. प्रथम आंग्ल-बर्मा युद्ध
  3. प्रथम आंग्ल-सिख युद्ध
  4. प्रथम आंग्ल-मराठा युद्ध

उपर्युक्त घटनाओं का कौन-सा कालानुक्रम सही है?

a) 1-4-2-3

b) 4-1-2-3

c) 1-4-3-2

d) 4-1-3-2

14-खेड़ा किसान आंदोलन मुख्य रूप से संबंधित था?

a) कच्छ क्षेत्र में सीलिंग कानूनों को लागू करना

b) फसल नष्ट होने की स्थिति में किसानों के करों को माफ़ करना

c) भूमिहीन मजदूरों के लिए कार्य की बेहतर परिस्थितियों का निर्माण करवाना

d) उपर्युक्त में से कोई नहीं

15-जैन धर्म और बौद्ध धर्म के उदय के निम्न में से कौन-से कारण हैं?

  1. छठी शताब्दी ई.पू. में भारत में धार्मिक अशांति।
  2. उत्तर वैदिक काल में प्रचलित यज्ञ-संबंधी अनुष्ठानों का अत्यधिक खर्चीला होना।
  3. उपनिषदों की शिक्षाओं को सामान्य जन द्वारा आसानी न समझ पाना।

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) 1, 2

b) 1, 3

c) 2, 3

d) 1, 2, 3

16-.निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. नायक चित्रकला महाभारत और रामायण की घटनाओं को दर्शाते हैं।
  2. नायक चित्रकला शैली को विजयनगर कला और वास्तुकला के वैचारिक विरोध में विकसित किया गया था।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

a) केवल 1

b) केवल 2

c) 1 और 2 दोनों

d) न तो 1, न ही 2

17-तिरुमालापुरम चित्रकला का संरक्षण निम्नलिखित किसके द्वारा किया गया था:

a) पल्लव

b) पंड्या

c) चोल

d) विजयनगर साम्राज्य

18-निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. यक्षगान केरल का एक पारंपरिक थिएटर रूप है।
  2. यक्षगान एक मंदिर कला का रूप है जो पौराणिक कथाओं और पुराणों को चित्रित करता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

a) केवल 1

b) केवल 2

c) 1 और 2 दोनों

d) न तो 1, न ही 2

19- किसी क्षेत्र का अपवाह प्रतिरूप निम्नलिखित कारकों में से किसका परिणाम है

  1. भूवैज्ञानिक समयावधि।
  2. चट्टानों की प्रकृति
  3. चट्टानों की संरचना
  4. स्थलाकृति
  5. जल प्रवाह की मात्रा और प्रवाह चक्र।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-से सही हैं?

a) 1, 2, 3

b) 1, 2, 3, 4

c) 1, 2, 3, 4, 5

d) 2, 3, 4, 5

20- ग्वार कृषि के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. ग्वार या क्लस्टर बीन एक कृषि प्रधान फसल है जिसे मुख्य रूप से दक्षिणी भारत के सिंचित क्षेत्रों में उगाया जाता है।
  2. भारत ग्वार का विश्व का सबसे बड़ा उत्पादक है।
  3. ग्वार गम का उपयोग शेल गैस के निष्कर्षण में फ्रैकिंग प्रक्रिया में किया जाता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-से सही हैं?

a) 1, 2

b) 1, 3

c) 2, 3

d) 1, 2, 3

21-राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (National Commission for Protection of Child Rights: NCPCR) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण में एक सांविधिक निकाय है।
  2. आयोग का अधिदेश यह सुनिश्चित करना है कि सभी कानून, नीतियां और कार्यक्रम बाल अधिकारों पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन के अनुरूप हैं।
  3. यह बाल अधिकारों के उल्लंघन की शिकायतों की जांच करता है और बाल अधिकारों के उल्लंघन के गंभीर मामलों का स्वत: संज्ञान लेता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-से सही हैं?

a) 1, 2

b) 1, 3

c) 2, 3

d) 1, 2, 3

22-विश्व व्यापार संगठन (WTO) के सेनेटरी और फाइटोसैनेटिक मेजर्स (SPS) समझौते द्वारा निम्नलिखित में से किन्हें “थ्री सिस्टर्स” के रूप में मान्यता प्रदान की गई है?

  1. इंटरनेशनल प्लांट प्रोटेक्शन कन्वेंशन (IPPC)
  2. कोडेक्स एलेमेंट्रिस कमीशन
  3. पसिफ़िक प्लांट प्रोटेक्शन ऑर्गेनाइजेशन
  4. विश्व पशु स्वास्थ्य संगठन (OIE)

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) 1, 2, 3

b) 1, 2, 4

c) 2, 3, 4

d) 2, 4

23-वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (Financial Action Task Force: FATF) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. एक नीति-निर्माण निकाय के रूप में, FATF मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवाद के वित्तपोषण के क्षेत्रों में राष्ट्रीय विधायी और नियामकीय सुधार लाने के लिए आवश्यक राजनीतिक इच्छाशक्ति उत्पन्न करने के लिए कार्य करता है।
  2. FATF की सिफारिशों को लागू करने के लिए 200 से अधिक देश और अधिकारक्षेत्र प्रतिबद्ध हैं।
  3. यदि देशों द्वारा FATF मानकों का अनुपालन नहीं किया जाता है तो FATF के पास देशों को जवाबदेह बनाने की शक्ति नहीं है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-से सही हैं?

a) 1, 2

b) 1, 3

c) 2, 3

d) 1, 2, 3

24-.निम्नलिखित में से किस पारिस्थितिक रूप से संवेदनशील क्षेत्रों में स्थित औद्योगिक परियोजनाओं को परियोजना के प्रकार के बावजूद पर्यावरणीय मंजूरी की आवश्यकता होती है?

  1. धार्मिक और ऐतिहासिक स्थान
  2. खाड़ी क्षेत्र
  3. आदिवासी बस्ती
  4. अंतर्राष्ट्रीय सीमा क्षेत्र

सही उत्तर कूट का चयन कीजिए:

a) 1, 2, 3

b) 1, 3, 4

c) 2, 3, 4

d) 1, 2, 3, 4

25-ग्लोबल पार्टनरशिप फॉर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (GPAI) के बारे में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए।

  1. भारत GPAI का एक संस्थापक सदस्य है।
  2. विश्व आर्थिक मंच नए GPAI के सचिवालय की मेजबानी करता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

a) केवल 1

b) केवल 2

c) 1 और 2 दोनों

d) न तो 1, न ही 2

ANSWERS

1-उत्तर: b)

  • संप्रभुता (Sovereignty) का तात्पर्य केवल यह है कि भारत एक ऐसा राज्य है जो अपने निर्णय स्वयं लेता है जो अंततः लोगों द्वारा निर्देशित होते हैं। कोई भी बाहरी एजेंसी भारत को निर्देशित नहीं कर सकती है।
  • हालाँकि, संप्रभुता की धारणा सभी लोकतांत्रिक अधिकारों के ढांचे के तहत शामिल नहीं है। उदा. एक संप्रभु राज्य अपने नागरिकों के बीच तर्कसंगत भेदभाव कर सकता है।
  • वाक् और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता प्राप्त होती है। एक संप्रभु राज्य तर्कसंगत आधार पर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को प्रतिबंधित कर सकता है, क्योंकि यह एक निरपेक्ष अधिकार नहीं है, भले ही यह लोकतंत्र के लिए महत्वपूर्ण है।

2-उत्तर: b)

  • उद्देशिका में 42वें संवैधानिक संशोधन अधिनियम (1976) द्वारा संशोधन किया गया, जिसके द्वारा तीन नए शब्द नामतः समाजवादी, पंथनिरपेक्ष और अखंडता जोड़े गए थे।
  • भारतीय संविधान की उद्देशिका ‘उद्देश्य प्रस्ताव’ पर आधारित है, जिसे पंडित नेहरू द्वारा प्रारूपित और प्रस्तुत किया गया था, और जिसे संविधान सभा द्वारा अपनाया गया था।

3-उत्तर: d)

  • अनुच्छेद 14, 15, 16, 19, 25-30 जनजातीय अधिकारों की रक्षा करते हैं।
  • समानता के अधिकारों (14-18) के अंतर्गत विधि के समक्ष समानता, धर्म, जाति, लिंग या जन्म स्थान के आधार पर भेदभाव का निषेध, रोजगार के मामलों में अवसर की समानता, अस्पृश्यता का उन्मूलन और उपाधियों का उन्मूलन शामिल हैं। ।
  • धर्म की स्वतंत्रता के अधिकार (25-28) के अंतर्गत अंतःकरण की स्वतंत्रता और धर्म के अबाध रूप से मानने, आचरण करने और प्रचार करने, धार्मिक मामलों का प्रबंधन करने की स्वतंत्रता, कुछ करों से मुक्ति और कुछ शैक्षिक संस्थानों में धार्मिक शिक्षा की स्वतंत्रता शामिल है।
  • संस्कृति और शिक्षा संबंधी अधिकार (29-30) नागरिकों के किसी भी वर्ग को उनकी संस्कृति, भाषा या लिपि के संरक्षण का अधिकार प्रदान करते हैं, और अल्पसंख्यकों के अधिकार को उनकी पसंद के शैक्षिक संस्थानों की स्थापना और प्रशासन के लिए संरक्षित करते हैं।

4-उत्तर: d)

  • ब्लैक कार्बन जीवाश्म ईंधन, बायोफ्यूल, और बायोमास के अपूर्ण दहन के माध्यम से निर्मित शुद्ध कार्बन होता है तथा मानवजनित और प्राकृतिक दोनों रूप से उत्सर्जित कालिख से निर्मित होते हैं।
  • जैसा कि ब्लैक कार्बन के कण ऊष्मा को अवशोषित करते हैं और वे आसपास की वायु को गर्म कर देते हैं और सेल्फ-लिफ्ट नामक प्रक्रिया द्वारा अधिक से अधिक ऊँचाई तक पहुंच जाते हैं।
  • चूँकि ब्लैक कार्बन सौर और पार्थिव विकिरण को अवशोषित करते हैं और वायुमंडल को गर्म करते हैं जिससे यह मानसून तंत्र को बाधित कर सकता है। यदि ये बर्फ पर निक्षेपित हो जाते हैं, तो ये बर्फ के तापन की दर को बढ़ा सकते हैं और हिमनदों के पिघलने की दर को तीव्र कर सकते हैं।
  • ब्लैक कार्बन अल्प समय के लिए विद्यमान रहने वाला एक जलवायु प्रदूषक है।

5-उत्तर: c)

  • फ्लाई ऐश विद्युत् संयत्रों में पल्सवराइज्ड कोयला (pulverized coal) दहन का एक उपोत्पाद है। फ्लाई ऐश में भारी धातुओं और अन्य पदार्थों के ट्रेस सांद्रित होते हैं जिन्हें स्वास्थ्य के लिए हानिकारक माना जाता है। यह भूजल एक्वाइफर्स में विषैली भारी धातुओं के निक्षालन का कारण बन सकता है।
  • फ्लाई ऐश में क्रिस्टलीय सिलिका होती है जो फेफड़ों की बीमारी, विशेष रूप से सिलिकोसिस का कारण बन सकती है।

6-उत्तर: b)

  • नाइट्रोजन चक्र के साथ जुड़े कई स्रोतों के माध्यम से नाइट्रस ऑक्साइड का उत्सर्जन स्वाभाविक रूप से होता है, जो वातावरण, पौधों, जानवरों और मृदा एवं जल में निवास
  • करने वाले सूक्ष्मजीवों के बीच नाइट्रोजन का प्राकृतिक संचरण है।
  • नाइट्रस ऑक्साइड वास्तव में वायुमंडल से हटा दिया जाता है जब इसे कुछ प्रकार के बैक्टीरिया द्वारा अवशोषित कर लिया जाता है या पराबैंगनी विकिरण या रासायनिक प्रतिक्रिया द्वारा नष्ट कर दी जाती है।
  • नाइट्रोजन ऑक्साइड का एक प्राकृतिक स्रोत तड़ित की घटना है। तड़ित के आसपास के क्षेत्र में बहुत अधिक तापमान नाइट्रिक ऑक्साइड बनाने के लिए प्रतिक्रिया करने के लिए वायु में गैसों ऑक्सीजन और नाइट्रोजन का कारण बनता है। नाइट्रोजन डाइऑक्साइड बनाने के लिए नाइट्रिक ऑक्साइड अधिक ऑक्सीजन के साथ प्रतिक्रिया करता है।

7-उत्तर: d)

  • बायोरिएक्टर (Bioreactors), कोशिका संवर्धन के संदर्भ में कोशिकाओं या ऊतकों को विकसित करने के लिए एक उपकरण या प्रणाली को संदर्भित करता है। इन उपकरणों का टिशू इंजीनियरिंग या जैव रासायनिक इंजीनियरिंग में उपयोग के लिए विकसित किया जा रहा है। इसका उपयोग सीवेज और अपशिष्ट जल के उपचार के लिए किया जा सकता है।
  • एक फोटोबियोरिएक्टर (photobioreactor: PBR) एक बायोरिएक्टर है जिसमें कुछ प्रकार के प्रकाश स्रोत (जो प्राकृतिक धूप या कृत्रिम रोशनी हो सकता है) का उपयोग किया जाता है। PBR का उपयोग छोटे फोटोट्रॉफिक जीवों जैसे कि साइनोबैक्टीरिया, शैवाल या मॉस पौधों को उगाने के लिए किया जाता है।

8-उत्तर: b)

  • चालू खाता के भीतर देश के वस्तु, सेवाओं और निवेश के अंतर्वाह और बहिर्वाह का मापन किया जाता है। यदि आयात की जाने वाली वस्तुओं और सेवाओं का मूल्य निर्यात से अधिक है, तो हम घाटे में हैं। चालू खाते में ब्याज और लाभांश सहित शुद्ध आय, और विदेशी सहायता जैसे स्थानान्तरण शामिल हैं।
  • इसलिए, अविकसित देशों को विदेशी सहायता बढ़ने से चालू खाता घाटा बढ़ता है।
  • हालांकि, आयात शुल्क बढ़ाने और निर्यात सब्सिडी प्रदान करने से चालू खाता घाटा कम करने में मदद मिलती है।

9-उत्तर: a)

  • उपकर (Cess) सरकार द्वारा किसी विशेष सेवा या क्षेत्र के विकास या कल्याण के लिए लगाया या वसूला जाने वाला कर का एक रूप है।
  • इसे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष करों पर लगाया जाता है।
  • किसी विशेष उद्देश्य के लिए एकत्रित उपकर को अन्य प्रयोजनों के लिए उपयोग नहीं किया जा सकता है।
  • यह सरकार के लिए राजस्व का एक स्थायी स्रोत नहीं है, और जब निर्धारित उद्देश्य पूरा हो जाता है तो इसे समाप्त कर दिया जाता है।
  • उदाहरण: शिक्षा उपकर, स्वच्छ भारत उपकर, कृषि कल्याण उपकर आदि।
  • हालांकि सभी करों को भारत की समेकित निधि (CFI) में जमा किया जाता है, लेकिन उपकरों को शुरुआत में CFI में जमा किया जा सकता है लेकिन इसका उपयोग उस उद्देश्य के लिए किया जाना चाहिए जिसके लिए इन्हें एकत्र किया गया था।
  • यदि किसी विशेष वर्ष में एकत्रित उपकर अनुपयोगी रह जाता है, तो इसे अन्य प्रयोजनों के लिए आवंटित नहीं किया जा सकता है। इस राशि को अगले वर्ष के लिए स्थानान्तरित कर दिया जाता है और केवल निर्धारित उद्देश्य के लिए ही इसका उपयोग किया जा सकता है।

10-उत्तर: b)

  • अप्रत्यक्ष कर सरकार द्वारा वस्तुओं और सेवाओं पर लगाया जाने वाला कर होता है, न कि किसी व्यक्ति की आय, लाभ या राजस्व पर।
  • अप्रत्यक्ष कर सभी आय समूहों के लिए समान हैं।
  • कुछ अप्रत्यक्ष कर: सीमा शुल्क, केंद्रीय उत्पाद शुल्क, सेवा कर, बिक्री कर और मूल्य वर्धित कर (VAT)।
  • टैक्स का कैस्केडिंग प्रभाव एक ऐसी स्थिति होती है जिसमें किसी भी वस्तु या सेवा के अंतिम-उपभोक्ता को पहले से गणना किए गए कर का भुगतान करना पड़ता है और परिणामस्वरूप बढ़ी हुई कीमत को वहन करना पड़ता है।

 

11-उत्तर: a)

  • प्राथमिक घाटा चालू वर्ष के राजकोषीय घाटे और पिछले वर्ष की उधारी पर भुगतान किए गए ब्याज के बीच का अंतर होता है।
  • प्राथमिक घाटा ब्याज को छोड़कर, सरकार की उधार आवश्यकताओं को दर्शाता है। यह वह राशि है जिसके द्वारा किसी सरकार का कुल व्यय कुल आय से अधिक होता है। ज्ञातव्य है कि प्राथमिक घाटे में ब्याज भुगतान शामिल नहीं होता हैं। इसके अलावा, प्राथमिक घाटा सरकार के व्यय को पूरा करने के लिए आवश्यक उधार आवश्यकताओं को दर्शाता है।
  • ब्याज भुगतान को छोड़कर, सरकार द्वारा उपयोग की जाने वाली उधार की राशि कू ज्ञात करने के लिए प्राथमिक घाटे का मापन किया जाता है।

12-उत्तर: d)

  • RBI अधिनियम यह निर्देश देता है कि देश के सभी वाणिज्यिक बैंकों (और कुछ अन्य निर्दिष्ट संस्थानों) को अपनी मांग और समय जमा (NDTL या शुद्ध मांग और समय देनदारियों) के दिए गए अनुपात को तरल संपत्ति के रूप में अपने स्वयं के पास रखना होगा। इसे वैधानिक तरलता अनुपात (Statutory Liquidity Ratio: SLR) कहा जाता है।
  • यहां वैधानिक शब्द का अर्थ है कि यह कानूनी आवश्यकता है और तरल संपत्ति का अर्थ है नकदी, स्वर्ण और अनुमोदित प्रतिभूतियां (सरकारी प्रतिभूतियां) या SGBs।

13-उत्तर: a)

  • प्रथम आंग्ल-मैसूर युद्ध – (1766-1769)
  • प्रथम आंग्ल-मराठा युद्ध – (1775–1782)
  • प्रथम आंग्ल-बर्मा युद्ध – (1824-1826)
  • प्रथम आंग्ल-सिख युद्ध – (1845–46)

14-उत्तर: b)

  • खेड़ा किसान संघर्ष को नो-टैक्स किसान संघर्ष के रूप में भी जाना जाता है। यह गांधीजी, सरदार वल्लभभाई पटेल, इंदुलाल याज्ञिक, एन.एम. जोशी, शंकरलाल पारीक और कई अन्य लोगों के नेतृत्व में मार्च 1919 में शुरू किया गया एक सत्याग्रह था।

15-उत्तर: d)

  • जैन धर्म और बौद्ध धर्म के उदय का मुख्य कारण भारत में 6वीं शताब्दी ई.पू. में धार्मिक अशांति थी। उत्तर वैदिक काल में प्रचलित जटिल अनुष्ठान और यज्ञ आम लोगों को स्वीकार्य नहीं थे। यज्ञोपवीत संस्कार भी अत्यधिक खर्चीला थे। अंधविश्वासों और मंत्रों ने लोगों को भ्रमित किया। उपनिषदों की शिक्षाओं की प्रकृति अत्यधिक दार्शनिक थीं और इसलिए आसानी से सभी को समझ में नहीं आती थीं।

16-उत्तर: a)

  • ये कृष्ण-लीला के दृश्यों को भी दर्शाते हैं। तिरुवरुर में, मुचुकुंद की कहानी का वर्णन करने वाला एक पैनल का वर्णन किया गया है। चिदंबरम में शिव और विष्णु से जुड़ी कथाओं के चित्र मिलते हैं- भिक्षाटन मूर्ति के रूप में शिव और मोहिनी के रूप में विष्णु की आदि।
  • अर्कोट जिले के चेंगम में श्री कृष्ण मंदिर में रामायण का कथावाचन करते हुए साठ पैनल को दर्शाया गया है जो नायक चित्रों के अंतिम चरण का प्रतिनिधित्व करते हैं।

 

उपर्युक्त उदाहरणों से पता चलता है कि नायका चित्रकला लगभग क्षेत्रीय संशोधनों और समावेश के साथ विजयनगर शैली का विस्तार था।

 

17-उत्तर: b)

  • जब पांड्य सत्ता में आए, तो उन्होंने भी कला को संरक्षण दिया। तिरुमालापुरम गुफाएँ और सित्तनवासल में जैन गुफाएँ इसके कुछ जीवंत उदाहरण हैं।
  • तिरुमालापुरम में चित्रों की कुछ खंडित परतें देखी जा सकती हैं। सित्तनवासल में, चैत्य के बरामदे की छत, और ब्रैकेट पर दिखाई देते हैं।
  • बरामदे के खंभों पर अप्सराओं के नृत्य करते हुए चित्र देखे जा सकते हैं। चित्रों में रेखाओं को दृढ़ता से चित्रित किया गया है और इसमें हल्के रंग की पृष्ठभूमि पर सिंदूरी लाल रंग द्वारा चित्रित किया जाता है।
  • इन आकृतियों की आँखें बड़ी-बड़ी और कहीं-कहीं चेहरे से बहर निकली हुई भी दिखाई देती हैं। आँखों की यह विशेषता दक्कन और दक्षिण भारत के परवर्ती काल के अनेक चित्रों में भी देखने को मिलती है।

18-उत्तर: b)

  • यक्षगान कर्नाटक का एक पारंपरिक थिएटर रूप है।
  • यह एक मंदिर कला का रूप है जिसमें पौराणिक कहानियों और पुराणों को दर्शाया गया है।
  • इसका चित्रण बड़े पैमाने पर हेडगियर्स, विस्तृत चेहरे के मेकअप और जीवंत परिधानों और गहनों के साथ किया जाता है।
  • आमतौर पर इसका व्याख्यान कन्नड़ में किया जाता है। इसका प्रदर्शन मलयालम के साथ-साथ तुलु (दक्षिण कर्नाटक की बोली) में भी किया जाता है।
  • इसका प्रदर्शन आघात-वाद्ययंत्रों जैसे चेंडा, मडालम, जगट्टा या चेंगिला (झांझ) और चक्रताल या इलाथलम (छोटे झांझ) के साथ किया जाता है।

19-उत्तर: c)

  • सुव्यवस्थित प्रणाली के माध्यम से जल के प्रवाह को ‘अपवाह’ के रूप में जाना जाता है और ऐसी प्रणालियों के जाल को ‘अपवाह तंत्र’ कहा जाता है। किसी क्षेत्र का अपवाह प्रतिरूप भूवैज्ञानिक समयावधि, चट्टानों की प्रकृति और संरचना, स्थलाकृति, ढाल, जल प्रवाह की मात्रा और प्रवाह चक्र का परिणाम होता है।

20-उत्तर: c)

  • ग्वार या क्लस्टर बीन एक कृषि फसल है जो पश्चिम और उत्तर-पश्चिम भारत, पाकिस्तान, सूडान और संयुक्त राज्य अमेरिका के कुछ हिस्सों में उगाई जाती है। भारत 850,000 टन से अधिक का उत्पादन करता है, या विश्व में उत्पादित कुल ग्वार का 80% का उत्पादन करता है। भारत में उत्पादित ग्वार गम या व्युत्पन्न उत्पादों का 75% मुख्य रूप से संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोपीय देशों को निर्यात किया जाता है।
  • राजस्थान 70% उत्पादन का प्रमुख ग्वार उत्पादक राज्य है। गुजरात, हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश तथा मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में भी ग्वार उगाया जाता है।
  • ग्वार गम का उपयोग शेल गैस के निष्कर्षण में फ्रैकिंग प्रक्रिया में किया जाता है। भारत ग्वार का विश्व का सबसे बड़ा उत्पादक है।

21-उत्तर: d)

  • राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (National Commission for Protection of Child Rights: NCPCR) की स्थापना मार्च 2007 में बाल अधिकार संरक्षण (CPCR) अधिनियम, 2005 के तहत की गई थी। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) भारत सरकार के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण में एक सांविधिक निकाय है। आयोग का अधिदेश यह सुनिश्चित करना है कि सभी कानून, नीतियां, कार्यक्रम और प्रशासनिक तंत्र भारत के संविधान में निहित बाल अधिकार और बाल अधिकारों पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन के भी दृष्टिकोण के अनुरूप हो। 0 से 18 वर्ष के आयु वर्ग के एक व्यक्ति को बच्चे के रूप में परिभाषित किया गया है।
  • आयोग का मुख्य अधिदेश बाल अधिकारों के उल्लंघन की शिकायतों की जांच करना है। आयोग बाल अधिकारों के उल्लंघन के गंभीर मामलों का स्वत: संज्ञान लेता है और बच्चों के अधिकारों को बाधित करने वाले कारकों की जांच करता है।

22-उत्तर: b)

  • खाद्य सुरक्षा मानकों के लिए कोडेक्स एलेमेंट्रिस कमीशन और पशु स्वास्थ्य मानकों के लिए विश्व पशु स्वास्थ्य संगठन (OIE) सहित इंटरनेशनल प्लांट प्रोटेक्शन कन्वेंशन (IPPC) को विश्व व्यापार संगठन (WTO) के सेनेटरी और फाइटोसैनेटिक मेजर्स (SPS) समझौते द्वारा मान्यता प्राप्त “थ्री सिस्टर्स” हैं।

23-उत्तर: a)

  • एक नीति-निर्माण निकाय के रूप में, FATF मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवाद के वित्तपोषण के क्षेत्रों में राष्ट्रीय विधायी और नियामकीय सुधार लाने के लिए आवश्यक राजनीतिक इच्छाशक्ति उत्पन्न करने के लिए कार्य करता है।
  • FATF की सिफारिशों को लागू करने के लिए 200 से अधिक देश और अधिकारक्षेत्र प्रतिबद्ध हैं।
  • FATF सामूहिक विनाश के हथियारों के लिए वित्तपोषण को रोकने के लिए भी कार्य करता है।
  • FATF द्वारा देशों पर निगरानी रखी जाती है ताकि वे यह सुनिश्चित कर सकें कि वे FATF मानकों को पूरी तरह और प्रभावी रूप से लागू कर रहे हैं, और देशों को मानकों का अनुपालन करने हेतु जवाबदेह बनाये रखता है।

24-उत्तर: d)

निम्नलिखित अधिसूचित पारिस्थितिक रूप से नाजुक / संवेदनशील क्षेत्रों में स्थित औद्योगिक परियोजनाओं को परियोजना के प्रकार के बावजूद पर्यावरणीय मंजूरी की आवश्यकता होती है:

  • धार्मिक और ऐतिहासिक स्थान
  • पुरातात्विक स्मारक
  • दर्शनीय क्षेत्र
  • हिल रिसॉर्ट्स
  • बीच रिसॉर्ट्स
  • मैंग्रोव, कोरल, विशिष्ट प्रजातियों के प्रजनन स्थल से समृद्ध तटीय क्षेत्र
  • ज्वारनदीमुख
  • खाड़ी क्षेत्र
  • बायोस्फीयर भंडार
  • राष्ट्रीय उद्यान और अभयारण्य
  • राष्ट्रीय झील और दलदल
  • भूकंपीय क्षेत्र
  • आदिवासी बस्ती
  • वैज्ञानिक और भूवैज्ञानिक रुचि के क्षेत्र
  • रक्षा प्रतिष्ठान, विशेष रूप से सुरक्षा महत्व और प्रदूषण के प्रति संवेदनशील
  • सीमा क्षेत्र (अंतर्राष्ट्रीय)
  • हवाई अड्डे

25-उत्तर: a)

  • भारत हाल ही में संस्थापक सदस्य के रूप में कृत्रिम बुद्धिमत्ता पर अंतर्राष्ट्रीय और बहु-हितधारक पहल “ग्लोबल पार्टनरशिप फॉर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (GPAI)” में शामिल हुआ।
  • यह बहु-हितधारक अंतर्राष्ट्रीय साझेदारी, जिम्मेदार और मानव केंद्रित विकास तथा कृत्रिम बुद्धिमत्ता के उपयोग को बढ़ावा देगा।
  • GPAI कृत्रिम बुद्धिमत्ता के जिम्मेदार विकास को बढ़ावा देने के लिए सहयोग करने के लिए उद्योग, नागरिक समाज, सरकारों और शिक्षाविदों के विशेषज्ञों को एक साथ लाएगा।
  • GPAI का एक सचिवालय है, जिसकी मेजबानी आर्थिक सहयोग और विकास संगठन (OECD) द्वारा की जाती है।