UPSC DAILY CURRENT 05-09-2018

[1]

पब्लिक क्रेडिट रजिस्ट्री के संबंध में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

  1. पब्लिक क्रेडिट रजिस्ट्री एक सूचना भंडार है जिसमें भारत सरकार द्वारा लिये गए बाहरी ऋणों का लेखा-जोखा दर्ज होता है।
  2. इसकी शुरुआत वाई.एम. देवस्थली की अध्यक्षता वाली समिति की सिफारिश पर की गई थी।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A) केवल 1
B) केवल 2
C) 1 और 2 दोनों
D) न तो 1 और न ही 2
Hide Answer –

उत्तर : (b)
व्याख्या :

  • पब्लिक क्रेडिट रजिस्ट्री एक सूचना कोष है जो व्यक्तियों और कॉर्पोरेट उधारकर्त्ताओं की सभी ऋण संबंधी जानकारियों को इसमें शामिल करती है। एक क्रेडिट कोष, बैंकों को खराब और अच्छे उधारकर्त्ता के बीच अंतर करने में मदद करता है और तदनुसार अच्छे उधारकर्त्ताओं को आकर्षक ब्याज दरें प्रदान करता है तथा खराब उधारकर्त्ताओं के लिये उच्च ब्याज दरें निर्धारित करता है। अतः कथन 1 सही नहीं है।
  • यह कदम वाई.एम. देवस्थली की अध्यक्षता वाली समिति की सिफारिशों पर आधारित है। यह कोष बैंकों के सामने आने वाली खराब ऋण की समस्या को भी संबोधित कर सकता है, क्योंकि कॉर्पोरेट देनदार मौजूदा ऋण का खुलासा किये बिना बैंकों से उधार लेने में सक्षम नहीं होंगे। अतः कथन 2 सही है।
[2]

संयुक्त राष्ट्र पर्यटन संगठन से संबंधित निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

  1. इन आँकड़ों के मुताबिक दक्षिण एशियाई क्षेत्र में भूटान के सर्वाधिक बेहतर प्रदर्शन  के बावजूद अंतर्राष्ट्रीय पर्यटक आगमन वर्ष  2017 में रिकॉर्ड निम्न स्तर पर पहुँच गया।
  2. UNWTO में 158 देश, 6 एसोसिएट सदस्य और 500 से अधिक संबद्ध सदस्य शामिल हैं जो निजी क्षेत्र, शैक्षिक संस्थानों, पर्यटन संगठनों और स्थानीय पर्यटन प्राधिकरणों का प्रतिनिधित्त्व करते हैं।

नीचे दिये गए कूटों का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिये:

A) केवल 1
B) केवल 2
C) 1 और 2 दोनों
D) न तो 1 और न ही 2
Hide Answer –

उत्तर : (b)
व्याख्या :

  • हाल ही में जारी किये गए संयुक्त राष्ट्र पर्यटन संगठन (UNWTO) के आँकड़ों के अनुसार, दक्षिण एशियाई क्षेत्र में भारत की अगुआई के साथ अंतर्राष्ट्रीय पर्यटक आगमन वर्ष  2017 में रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुँच गया। उल्लेखनीय है कि इन आँकड़ों में वर्ष 2016 की तुलना में 84 मिलियन की वृद्धि हुई है और यह एक नया रिकॉर्ड कायम करता है। अतः कथन 1 सही नहीं है।
  • UNWTO संयुक्त राष्ट्र की एक एजेंसी है, जो सतत् और सार्वभौमिक रूप से सुलभ पर्यटन को प्रोत्साहित करने के लिये ज़िम्मेदार है। UNWTO में 158 देश, 6 एसोसिएट सदस्य और 500 से अधिक संबद्ध सदस्य शामिल हैं जो निजी क्षेत्र, शैक्षिक संस्थानों, पर्यटन संगठनों और स्थानीय पर्यटन प्राधिकरणों का प्रतिनिधित्त्व करते हैं। अतः कथन 2 सही है।
[3]

मिल-बाँचें कार्यक्रम का संबंध निम्नलिखित में से किस राज्य से है?

A) उत्तर प्रदेश
B) बिहार
C) मध्य प्रदेश
D) राजस्थान
Hide Answer –

उत्तर : (c)
व्याख्या :

  • हाल ही में मध्य प्रदेश सरकार ने राज्य के सभी सरकारी स्कूलों में मिल-बाँचें कार्यक्रम की शुरुआत की। राज्य के सरकारी स्कूलों और समाज के बीच शुरू किया जाने वाला यह कार्यक्रम अपनी तरह का पहला संवादात्मक कार्यक्रम है। राज्य में इस कार्यक्रम के आयोजन का उद्देश्य बच्चों का बहु-आयामी विकास करना है। ‘मिल-बाँचें मध्य प्रदेश’ कार्यक्रम के लिये पंजीकृत 2 लाख से अधिक स्वयंसेवकों में 820 इंजीनियर, 843 डॉक्टर, 36 हज़ार निजी क्षेत्र के कर्मचारी, 19 हज़ार सार्वजनिक प्रतिनिधि और लगभग 45 हज़ार सरकारी कर्मचारी तथा अधिकारी शामिल हैं।
[4]

नेता एप का संबंध निम्नलिखित में से किससे है?

A) विभिन्न राजनीतिक दलों के भ्रष्ट नेताओं के काले धन का विवरण प्रदान करता है।
B) यह एप भारतीय मतदाताओं को विधायकों और सांसदों का मूल्यांकन करने की अनुमति प्रदान करता है।
C) स्कूली स्तर पर छात्रों में नेतृत्व का गुण पैदा करने हेतु शिक्षा मंत्रालय द्वारा प्रस्तुत एक एप है।
D) चुनाव की तारीखों की जानकारी प्रदान करने के लिये चुनाव आयोग द्वारा लॉन्च किया गया एक एप है।
Hide Answer –

उत्तर : (b)
व्याख्या:

  • हाल ही में नेशनल इलेक्टोरल ट्रांसफॉर्मेशन एप (National Electoral Transformation App- NETA) लॉन्च किया गया। यह एप एक ऐसा मंच है जहाँ मतदाता अपने निर्वाचित प्रतिनिधियों के कार्यों की समीक्षा तथा उनका मूल्यांकन कर सकते हैं और साथ ही प्रतिनिधियों को उनके कर्त्तव्यों के लिये ज़िम्मेदार भी ठहरा सकते हैं। यह एप युवा आईटी विशेषज्ञ प्रथम मित्तल द्वारा विकसित किया गया है।  अमेरिकी अनुमोदन प्रणाली से प्रेरित यह एप उपयोगकर्त्ताओं को अपने विधायकों और सांसदों का मूल्यांकन करने की अनुमति देता है। राजस्थान के अजमेर और अलवर निर्वाचन क्षेत्रों में फरवरी, 2018 के उपचुनाव के दौरान इस एप को प्रस्तुत किया गया था तथा बाद में इसका उपयोग मई 2018 में विधानसभा चुनावों से पहले कर्नाटक में किया गया था।
[5]

विधि आयोग के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

  1. भारतीय विधि आयोग एक गैर-सांविधिक निकाय है।
  2. प्रथम विधि आयोग का गठन 1950 में किया गया था।
  3. विधि आयोग का गठन प्रत्येक 5 वर्ष में किया जाता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A) केवल 1
B) केवल 2 और 3
C) केवल 3
D) 1, 2 और 3
Hide Answer –

उत्तर : (a)
व्याख्या :

  • भारतीय विधि आयोग एक गैर-सांविधिक निकाय है जो केंद्रीय विधि एवं न्याय मंत्रालय के समन्वय में तथा उसके सामान्य निर्देशों के अंतर्गत कार्य करता है। अतः कथन 1 सही है। 
  • स्वतंत्रता के पश्चात्  प्रथम विधि अयोग का गठन 1955 में किया गया और भारत के तत्कालीन महान्यायवादी एम.सी. सीतलवाड़ इसके अध्यक्ष थे तथा इसमें 10 अन्य सदस्य शामिल थे। प्रत्येक तीन वर्ष में विधि आयोग का पुनर्गठन किया जाता है। वर्तमान के 21वें विधि अयोग का गठन वर्ष 2015 में किया गया। विधि आयोग केंद्र सरकार द्वारा उल्लिखित या स्वयमेव आधार पर विधि संबंधी अनुसंधान करता है और भारत में मौजूदा कानूनों की समीक्षा करता है ताकि उनमें सुधार किया जा सके और नए कानून लागू किये जा सकें। अतः कथन 2 एवं 3 दोनों सही नहीं हैं।

 

 

जीएम सरसों के परीक्षण संबंधी निर्णय पर रोक

CGMCP

हाल ही में देश में आनुवंशिक रूप से संशोधित जीवों के संबंध में निर्णय लेने वाले शीर्ष निकाय जेनेटिक इंजीनियरिंग अनुमोदन समिति ने मधुमक्खियों की आबादी पर जीएम सरसों के प्रभाव का अध्ययन करने के लिये परीक्षणों को अनुमति देने वाले निर्णयों पर रोक लगा दी है।

  • समिति के दो सदस्यों द्वारा दिल्ली यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर जेनेटिक मैनिपुलेशन ऑफ क्रॉप (CGMCP) के प्रोटोकॉल के बारे में चिंता व्यक्त करने के कारण इस निर्णय को रोका गया है।
  • GEAC को प्रस्तुत किये गए अपने आवेदन में CGMCP ने लुधियाना के पंजाब कृषि विश्वविद्यालय और भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान में मधुमक्खियों पर अध्ययन करने के लिये अपने प्रस्ताव को आगे बढ़ाया ताकि वह तिलहनी फसलों में परागण के साथ-साथ शहद के उत्पादन में भी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले कीटों पर अपने ट्रांसजेनिक सरसों की प्रजाति, DMH -11 के प्रभावों का अध्ययन कर सके।

जीएम फसल 

  • जीएम फसल, उन फसलों को कहा जाता है जिनके जीन को वैज्ञानिक तरीके से रूपांतरित किया जाता है।
  • ऐसा इसलिये किया जाता है ताकि फसल की उत्पादकता में वृद्धि हो सके तथा फसल को कीट प्रतिरोधी अथवा सूखा रोधी बनाया जा सके।

DMH-11

  • Dhara Mustard Hybrid-11 या DMH-11 सरसों की एक किस्म है जिसका विकास दिल्ली विश्वविद्यालय के NAAS सदस्य, दीपक पेंटल द्वारा किया गया है।
  • इसे वरुण नामक पारंपरिक सरसों की प्रजाति को पूर्वी यूरोप की एक प्रजाति के साथ क्रॉस कराकर तैयार किया गया है।
  • यदि इस किस्म को अनुमोदित किया जाता है, तो यह भारतीय क्षेत्रों में विकसित होने वाली पहली ट्रांसजेनिक खाद्य फसल होगी।
दवा प्रतिरोधी सुपरबग

Superbug

हाल ही में ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों द्वारा चेतावनी दी गई है कि एक सुपरबग जो सभी ज्ञात एंटीबायोटिक दवाओं का प्रतिरोधी है तथा गंभीर संक्रमण यहाँ तक कि मौत का भी कारण बन सकता है, दुनिया भर के अस्पतालों के वार्डों में अज्ञात रूप से फ़ैल रहा है।

  • मेलबर्न यूनिवर्सिटी के शोधकर्त्ताओं ने 10 देशों से प्राप्त नमूनों का अध्ययन किया तथा मल्टीड्रग-प्रतिरोधी बग के तीन प्रकारों की खोज की, जिन्हें वर्तमान में बाज़ार में उपलब्ध किसी भी दवा द्वारा विश्वसनीय रूप से नियंत्रित नहीं किया जा सकता है।
  • बैक्टीरिया, जिसे स्टाफिलोकोकस एपिडर्मिडिस (Staphylococcus epidermidis) के नाम से जाना जाता है, पहले से ज्ञात और अधिक घातक सुपरबग MRSA से संबंधित है।
  • यह स्वाभाविक रूप से मानव त्वचा पर पाया जाता है और आमतौर पर बुजुर्गों या मरीजों को संक्रमित करता है।
  • यह अध्ययन नेचर माइक्रोबायोलॉजी नामक पत्रिका में प्रकाशित किया गया।

MRSA

  • मेथिसिलिन- रेसिस्टेंट स्टाफिलोकोकस ऑरियस (Methicillin-resistant Staphylococcus Aureus- MRSA) एक जीवाणु है जो शरीर के विभिन्न हिस्सों में संक्रमण का कारण बनता है।
इंडियन रुफ्ड टर्टल

indian-roofed-turtl

कुछ माह पूर्व पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी ज़िले में एक मंदिर के तालाब में श्रद्धालुओं द्वारा फेंके गए तेल, अगरबत्ती, फूल और अन्य वस्तुओं के कारण उस तालाब का प्रदूषित होने से इसमें रहने वाले इंडियन रुफ्ड टर्टल Indian Roofed Turtle (Pangshura tecta) की एक छोटी आबादी का जीवन संकट में पड़ गया था।

  • एक अभिनव विचार ने तालाब में प्रदूषण को कम करने में मदद की है। इस विचार के तहत भगवन विष्णु की कुर्म (कछुआ) अवतार की मूर्ति को तालाब के समीप स्थापित किया गया है।

इंडियन रुफ्ड टर्टल

  • इंडियन रुफ्ड टर्टल (Pangshura tecta) जियोमेडिडे (Geoemydidae) कुल के कछुए की एक प्रजाति है।
  • इसे खोल के शीर्ष भाग में स्थित अलग “छत” द्वारा वर्गीकृत किया जा सकता है। यह दक्षिण एशिया की प्रमुख नदियों में पाया जाता है।
  • यह भारतीय उपमहाद्वीप में एक आम पालतू जानवर है।
  • वर्ष 2000 में इसे IUCN की रेड लिस्ट में कम चिंतनीय (least concern) श्रेणी के अंतर्गत रखा गया।