UPSC DAILY CURRENT 17-09-2018

[1]

निम्नलिखित में कौन-सी योजनाएँ प्रायः समाचारों में देखी जाने वाली ‘कृषोन्नति योजना’ के अंतर्गत सम्मिलित हैं?

  1. राष्ट्रीय कृषि विकास योजना
  2. राष्ट्रीय संधारणीय कृषि अभियान
  3. मध्यम तथा लघु सिंचाई योजना
  4. राष्ट्रीय फसल बीमा योजना

नीचे दिये गए कूटों का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिये:

A) केवल 1, 2 और 3
B) केवल 1, 3 और 4
C) केवल 1, 2 और 4
D) 1, 2, 3 और 4

उत्तर: (c)
व्याख्या : 

  • ‘कृषोन्नति योजना’ एक अम्ब्रेला योजना है जिसके अंतर्गत फसल खेती से संबंधित सभी योजनाओं को सम्मिलित किया गया है, यथा:

♦ राष्ट्रीय कृषि विकास योजना (RKVY) (अतः 1 सही है)
♦ राष्ट्रीय फसल बीमा योजना (NCIP) (अतः 4 सही है)
♦  राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अभियान (NFSM)
♦  राष्ट्रीय संधारणीय कृषि अभियान (NMSA) (अतः 2 सही है)
♦ एकीकृत बागबानी विकास अभियान (MIDH)
♦ तिलहन एवं पाम आयल पर राष्ट्रीय अभियान (NMOOP)
♦ कृषि विस्तार एवं प्रौद्योगिकी पर राष्ट्रीय अभियान
♦ कृषि विपणन पर एकीकृत योजना
♦ कृषि सहकारिता पर एकीकृत योजना
♦ राज्य भूमि विकास बैंकों के ऋणपत्रों में निवेश
♦ राष्ट्रीय कृषि-तकनीकी अवसंरचना कोष
♦ अनाजों तथा सब्जियों के मूल्य स्थिरीकरण हेतु कोष
♦ प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना का सूक्ष्म-सिंचाई वाला भाग

  • उल्लेखनीय है कि इस योजना के अंतर्गत प्रमुख, मध्यम एवं लघु सिंचाई वाले भाग को सम्मिलित नहीं किया गया है। अतः (3) सही नहीं है। इसकी कुछ योजनाएँ केंद्र तथा अन्य राज्यों द्वारा क्रियान्वित की जाएंगी।
[2]

प्रधानमंत्री जन विकास योजना है:

A) शिक्षा, स्वास्थ्य तथा कौशल विकास के क्षेत्र में अल्पसंख्यक समुदाय को बेहतर सामाजिक-आर्थिक बुनियादी ढाँचा प्रदान करने हेतु एक योजना।
B) चुनाव प्रणाली में अधिक-से-अधिक नागरिकों की भागीदारी सुनिश्चित करने हेतु एक पहल।
C) संयुक्त राष्ट्र पर्यावास के अंतर्गत शहरों के विकास हेतु एक अम्ब्रेला योजना।
D) वरिष्ठ नागरिकों को सामाजिक समावेशन के लक्ष्य की पूर्ति हेतु केंद्र की एक योजना।

उत्तर : (a)
व्याख्या: 

India

  • कुछ समय पहले आर्थिक मामलों पर मंत्रिमंडलीय समिति ने बहु-क्षेत्रक विकास कार्यक्रम (Multi-sectoral Development Programme : MsDP) को प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के रूप में पुनर्नामकरण एवं पुनर्संरचित करने को स्वीकृति दी।
  • इस पुनर्संरचित कार्यक्रम के तहत शिक्षा, स्वास्थ्य तथा कौशल विकास के क्षेत्र में अल्पसंख्यक समुदाय को बेहतर सामाजिक-आर्थिक बुनियादी ढाँचा प्रदान किया जाएगा। इससे पिछड़ेपन के मानकों में राष्ट्रीय औसत तथा अल्पसंख्यक समुदाय की स्थिति के बीच के अंतर को कम किया जा सकेगा। अतः विकल्प (a) सही उत्तर है।
  • इसके लिये इस कार्यक्रम को अधिक लचीला बनाया गया है तथा अल्पसंख्यक गहनता वाले शहरों (Minority Concentration Towns: MCT) और ग्राम समूहों एवं ब्लॉक्स (Minority Concentration Blocks and Cluster of Villages ) की पहचान के लिये मापदंडों को अधिक न्यायसंगत बनाया गया है।
  • पहले इस परिभाषा में केवल मूलभूत सुविधाओं तथा सामाजिक-आर्थिक, दोनों मापदंडों के संबंध में पिछड़े शहरों को MCT में शामिल किया जाता था लेकिन अब इसमें से किसी एक मापदंड में भी पिछड़ा होने पर उस शहर को MCT माना जाएगा।
  • ऐसे ग्राम समूह में सम्मिलित होने के लिये अल्पसंख्यक समुदाय की अनिवार्य भागीदारी को 50% से कम करके 25% तक कर दिया गया है।
  • इसके तहत कवर किये जाने वाले क्षेत्र को 57% तक बढ़ा दिया गया है तथा इसमें 196 की जगह 308 ज़िलों को शामिल किया जाएगा।
  • इसकी निगरानी हेतु जिओटैगिंग युक्त एक ऑनलाइन मोड्यूल को शामिल किया गया है।
  • यह ‘कोर ऑफ द कोर’ योजनाओं में से एक तथा केंद्र-प्रायोजित योजना है।
[3]

अकसर समाचारों में देखे जाने वाले “भारतीय बीमा विनियमन और विकास प्राधिकरण” के कार्यों के संबंध में निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?

  1. यह बीमा कंपनियों द्वारा पॉलिसीधारकों की निधियों के निवेश का विनियमन करता है।
  2. यह टैरिफ सलाहकार समिति के क्रियाकलापों का निरीक्षण करता है।
  3. यह बीमाकर्त्ताओं तथा मध्यस्थों अथवा बीमा मध्यस्थों के बीच विवादों का न्यायनिर्णयन करता है।
  4. यह म्यूचुअल फंड्स का पंजीकरण एवं नियमन करता है ।

नीचे दिये गए कूटों का प्रयोग कर सही उत्तर चुनिये:

A) केवल 1, 3 और 4
B) केवल 1, 2 और 3
C) केवल 1 और 3
D) 1, 2, 3 और 4

उत्तर : (b)
व्याख्या:

IARDAI
  • भारतीय बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (आईआरडीएआई) एक स्वायत्त निकाय है जिसकी स्थापना आईआरडीए अधिनियम, 1999 के अंतर्गत की गई। आईआरडीएआई का लक्ष्य है- पॉलिसीधारकों के हितों की सुरक्षा करना, बीमा उद्योग तथा इससे संबंधित या इसके लिये आकस्मिक मसलों का विनियमन, प्रवर्तन तथा क्रमिक वृद्धि को सुनिश्चित करना।
  • आईआरडीए अधिनियम, 1999 की धारा 14 में आईआरडीए के कर्त्तव्यों, शक्तियों तथा कार्यों का उल्लेख किया गया है, ये हैं-

♦ बीमा कंपनियों का पंजीयन तथा विनियमन करना।
♦ पॉलिसीधारकों के हितों की सुरक्षा करना।
♦ बीमा मध्यस्थों की लाइसेंसिंग तथा मानदंड निर्धारित करना।
♦ बीमा क्षेत्र के व्यावसायिक संगठनों को बढ़ावा देना।
♦ गैर-जीवन बीमा के आवरण की प्रीमियम दरों तथा शर्तों का विनियमन एवं निगरानी करना।
♦ बीमा कंपनियों के वित्तीय प्रतिवेदन मानदंडों को विनिर्दिष्ट करना।
♦ बीमा कंपनियों द्वारा पॉलिसीधारकों की निधियों के निवेश का विनियमन करना (अतः कथन 1 सही है)।
♦ बीमा कंपनियों द्वारा ऋणशोधन धनराशि (सॉल्वेंसी मार्जिन) का रख-रखाव सुनिश्चित करना।
♦ ग्रामीण क्षेत्रों में तथा समाज के भेद्य (असुरक्षित) वर्गों का बीमा आवरण सुनिश्चित करना।
♦ टैरिफ सलाहकार समिति के क्रियाकलापों का निरीक्षण करना (अतः कथन 2 सही है)।
♦ बीमाकर्त्ताओं तथा मध्यस्थों अथवा बीमा मध्यस्थों के बीच विवादों का न्यायनिर्णयन करना। (अतः कथन 3 सही है)

  • म्यूचुअल फंड्स का पंजीयन एवं नियमन SEBI (भारतीय प्रतिभूति विनिमय बोर्ड) द्वारा किया जाता है।

 

[4]

मानव विकास सूचकांक 2018 से संबंधित निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

1. इस सूचकांक की वरीयता सूची में नॉर्वे शीर्ष पर है।

2. रिपोर्ट में भारत को कुल 189 देशों में से 130वाँ स्थान प्राप्त हुआ है।

3. इसे संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) द्वारा जारी किया जाता है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A) केवल 1 और 2
B) केवल 1 और 3
C) केवल 2 और 3
D) 1, 2 और 3

उत्तर : (d)
व्याख्या :

  • मानव विकास सूचकांक-2018 रिपोर्ट की वरीयता सूची में नॉर्वे, स्विट्ज़रलैंड, ऑस्ट्रेलिया, आयरलैंड और ज़र्मनी शीर्ष स्थानों पर हैं, जबकि सबसे निचले पायदान पर अफ्रीकी देश नाइज़र है। इसके अलावा 189 देशों में से 59 देशों को उच्च मानव विकास की श्रेणी में, जबकि 38 देशों को न्यूनतम मानव विकास की श्रेणी में शामिल किया गया है। अतः कथन 1 सही है।
  • इस सूचकांक में इस वर्ष भारत को कुल 189 देशों में से 130वाँ स्थान प्राप्त हुआ है, जबकि पिछले वर्ष भारत को इस सूचकांक में 131वाँ स्थान प्राप्त हुआ था। दक्षिण एशिया में भारत का HDI का मान क्षेत्र के औसत 0.638 से अधिक है और भारत के पड़ोसी देश – बांग्लादेश और पाकिस्तान क्रमश: 136वें और 150वें स्थान पर हैं। वर्ष 1990 और 2017 के बीच भारत का HDI मान 427 से बढ़कर 0.640 हो गया, जिसमें लगभग 50 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। उल्लेखनीय है कि यह वृद्धि लाखों लोगों को गरीबी से मुक्ति दिलाने में देश की महत्त्वपूर्ण उपलब्धियों का संकेतक है। वर्ष 2017 के लिये भारत का HDI मान 640 है, जिसके कारण देश को मध्यम विकास की श्रेणी में रखा गया है। अतः कथन 2 सही है।
  • HDI मानव विकास के तीन बुनियादी आयामों (लंबा एवं स्वस्थ जीवन, ज्ञान तक पहुँच तथा जीवन जीने का एक सभ्य स्तर) द्वारा प्रगति का आकलन करने का एक वैश्विक मानक है। इसे प्रसिद्ध अर्थशास्त्री महबूब-उल-हक द्वारा बनाया गया था, जिसका 1990 में अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन द्वारा समर्थन किया गया। इसे हर वर्ष संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) द्वारा प्रकाशित किया जाता है। अतः कथन 3 सही है।
[5]

HIV आकलन रिपोर्ट 2017 के संदर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिये:

  1. राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के तहत HIV आकलन रिपोर्ट 2017, HIV श्रृंखला का 14वाँ संस्करण है।
  2. वर्ष 2017 में भारत में राष्ट्रीय स्तर पर HIV के फैलने की गति कम रही, लेकिन देश के कुछ भौगोलिक क्षेत्रों और कुछ खास समुदायों में इस महामारी में वृद्धि हुई है।

उपर्युक्त कथनों में से कौन-सा/से सही है/हैं?

A) केवल 1
B) केवल 2
C) 1 और 2 दोनों
D) न तो 1 और न ही 2

उत्तर : (c)
व्याख्या :

  • राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम (National AIDS Control Programme- NACP) के तहत HIV आकलन रिपोर्ट-2017, HIV श्रृंखला का 14वाँ संस्करण है। यह भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद और राष्ट्रीय चिकित्सा सांख्यिकीय संस्थान के सहयोग से द्विवार्षिक HIV आकलन रिपोर्ट जारी करता है। भारत में HIV आकलन का पहला संस्करण 1998 में आया था, जबकि पिछला संस्करण वर्ष 2015 में जारी हुआ था। HIV आकलन का उद्देश्य भारत में राष्ट्रीय और राज्य/केंद्रशासित प्रदेश स्तर पर HIV महामारी की स्थिति की अद्यतन सूचना उपलब्ध कराना है। अतः कथन 1 सही है।
  • HIV आकलन रिपोर्ट 2017 के अनुसार, वर्ष 2017 में भारत में HIV पीड़ित लोगों (PLHIV) की संख्या लगभग 21.40 लाख थी, इनमें वयस्क पीड़ितों की संख्या 0.22 फीसदी थी। वर्ष 2017 में HIV संक्रमण के लगभग 87,580 नए मामले सामने आए और 69,110 लोगों की एड्स से संबंधित बीमारियों के कारण मौत हुई। इस दौरान माँ से बच्चों में HIV के संक्रमण को रोकने के लिये 22,675 माताओं को एंटीरेट्रोवायरल थैरेपी (ART) की ज़रूरत पड़ी। वर्ष 2017 में राष्ट्रीय स्तर पर HIV के फैलने की गति कम रही, लेकिन देश के कुछ भौगोलिक क्षेत्रों और कुछ खास समुदायों में इस महामारी में वृद्धि हुई है। हाल के वर्षों की तुलना में HIV संक्रमण के नए मामलों की गति में कमी आई है। अतः कथन 2 सही है।

 

ग्रेट इंडियन बस्टर्ड

Great Indian Bustard

ग्रेट इंडियन बस्टर्ड देश का सर्वाधिक संकटग्रस्त पक्षी है तथा राजस्थान सरकार इसकी आबादी को संरक्षित करने का प्रयास कर रही है| आईयूसीएन रेड लिस्ट के अनुसार, वर्ष 1969 में ग्रेट इंडियन बस्टर्ड पक्षी की आबादी लगभग 1,260 थी और वर्तमान में इनकी कुल संख्या अनुमानतः 200 से भी कम है।

  • जब भारत के ‘राष्ट्रीय पक्षी’ के नाम पर विचार किया जा रहा था, तब ‘ग्रेट इंडियन बस्टर्ड’  का नाम भी प्रस्तावित किया गया था जिसका समर्थन प्रख्यात भारतीय पक्षी विज्ञानी सलीम अली ने किया था।
  • लेकिन ‘बस्टर्ड’ शब्द के गलत उच्चारण की आशंका के कारण ‘भारतीय मोर’ को राष्ट्रीय पक्षी चुना गया था।
  • ‘ग्रेट इंडियन बस्टर्ड’ भारत और पाकिस्तान की भूमि पर पाया जाने वाला एक विशाल पक्षी है।
  • यह विश्व में पाए जाने वाली सबसे बड़े उड़ने वाले पक्षी प्रजातियों में से एक है।
  • ‘ग्रेट इंडियन बस्टर्ड’ को भारतीय चरागाहों की पताका प्रजाति (Flagship species) के रूप में जाना जाता है।
  • इस पक्षी का वैज्ञानिक नाम आर्डीओटिस नाइग्रीसेप्स (Ardeotis nigriceps) है, जबकि मल्धोक, घोराड येरभूत, गोडावण, तुकदार, सोन चिरैया आदि इसके प्रचलित स्थानीय नाम हैं।
  • ‘ग्रेट इंडियन बस्टर्ड’ राजस्थान का राजकीय पक्षी भी है, जहाँ इसे गोडावण नाम से भी जाना जाता है।
  • ‘ग्रेट इंडियन बस्टर्ड’ की जनसंख्या में अभूतपूर्व कमी के कारण अंतर्राष्ट्रीय प्रकृति एवं प्राकृतिक संसाधन संरक्षण संघ (International Union for Conservation of Nature and Natural Resources) ने इसे संकटग्रस्त प्रजातियों में भी ‘गंभीर संकटग्रस्त’ (Critically Endangered) प्रजाति के तहत सूचीबद्ध किया है।
फ्लोरेंस तूफ़ान

Hurricane Storm

हाल ही में अमेरिका के पूर्वी तटों पर एक तूफान ने दस्तक दी जिसे फ्लोरेंस नाम दिया गया है। उल्लेखनीय है कि इस तूफ़ान की उत्पत्ति पश्चिम अटलांटिक महासागर से हुई है।

  • इस तूफान के चलते अमेरिका ने नार्थ तथा साउथ कैरोलिना के साथ-साथ वर्जीनिया में भी आपातकाल घोषित कर दिया है।
राजभाषा कीर्ति पुरस्कार

Rajbhasha Kirti Award

राजभाषा नीति के श्रेष्ठ कार्यान्वयन के लिये रेल मंत्रालय को राजभाषा कीर्ति पुरस्कार  के तहत प्रथम पुरस्कार प्राप्त हुआ है।

  • यह पुरस्कार भारत हिंदी दिवस (14 सितंबर) के अवसर पर विज्ञान भवन, नई दिल्ली में आयोजित पुरस्कार वितरण समारोह के दौरान दिया गया।
  • राजभाषा नीति के सर्वश्रेष्ठ कार्यान्वयन के परिणामस्वरुप राजभाषा के प्रयोग में बेहतर प्रगति दर्ज करने वाले कार्यालयों को राजभाषा शील्ड देकर सम्मानित किया जाता है।
  • पुरस्कारों का निर्णय राजभाषा नीति के कार्यान्वयन से संबंधित तिमाही प्रगति रिपोर्टों के आधार पर किया जाता है।
  • यह समीक्षा राजभाषा विभाग, गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा की जाती है।
  • हिंदी दिवस के अवसर पर हिंदी के स्वाध्याय के लिये ‘प्रवाह’ एप और ऑनलाइन हिंदी अनुवाद के लिये ‘कंठस्थ’ को भी लॉन्च किया गया।
एम. विश्वेश्वरैया

M Visvesvaraya

महान इंजीनियर एम.विश्वेश्वरैया की 157वीं जयंती के अवसर पर गूगल ने डूडल बनाकर उन्हें याद किया है।

  • एम.विश्वेश्वरैया जिनका पूरा नाम मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया था, का जन्म 15 सितंबर, 1861 को मैसूर (कर्नाटक) के ‘मुद्देनाहल्ली’ नामक स्थान पर हुआ था।
  • उनके जन्मदिन को पूरे भारत में इंजीनियर्स डे (अभियंता दिवस) के रूप में मनाया जाता है।
  • उनके इंजीनियरिंग के असाधारण कार्यों में मैसूर शहर में कन्नमबाड़ी या कृष्णराज सागर बांध बनाना एक महत्त्वपूर्ण कार्य था। इसकी योजना सन् 1909 में बनाई गई थी और सन् 1932 में यह पूरा हुआ।
  • उन्होंने नई ब्लॉक प्रणाली का आविष्कार किया, जिसके अंतर्गत स्टील के दरवाज़े बनाए गए जो बांध के पानी के बहाव को रोकने में मदद करते थे।
  • ये मैसूर के दीवान भी रहे।
  • विश्वेश्वरैया ने दक्षिण बंगलूरू में जयनगर के पूरे क्षेत्र का डिज़ाइन और प्लान किया था। जयनगर की नींव 1959 में रखी गई थी। माना जाता है कि उनके द्वारा डिज़ाइन किया गया यह क्षेत्र एशिया में सबसे अच्छे नियोजित क्षेत्रों में से एक था।
  • उन्होंने ‘भारत का पुनर्निर्माण’ (1920), ‘भारत के लिये नियोजित अर्थ व्यवस्था’ (1934) नामक पुस्तकें लिखीं और भारत के आर्थिक विकास का मार्गदर्शन किया।
  • उनके द्वारा किये गए उत्कृष्ट कार्यों के लिये भारत सरकार ने उन्हें वर्ष 1955 में भारत रत्न से सम्मानित किया। उन्हें ब्रिटिश नाइटहुड अवार्ड से भी सम्मानित किया गया था।
  • 14 अप्रैल, 1962 को उनका स्वर्गवास हो गया।

 

राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन ने जारी की HIV आकलन रिपोर्ट 2017

सामान्य अध्ययन प्रश्नपत्र-2 : शासन व्यवस्था, संविधान, शासन प्रणाली, सामाजिक न्याय तथा अंतर्राष्ट्रीय संबंध। 
(खंड- 13 : स्वास्थ्य, शिक्षा, मानव संसाधनों से संबंधित क्षेत्र/सेवाओं के विकास और प्रबंधन से संबंधित विषय।)

NACO

चर्चा में क्यों?

हाल ही में राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन (National AIDS Control Organisation- NACO) ने HIV आकलन रिपोर्ट 2017 जारी की।

HIV आकलन रिपोर्ट 2017 के अनुसार

  • 2017 में भारत में HIV पीड़ित लोगों (PLHIV) की संख्‍या लगभग 21.40 लाख थी, इनमें वयस्‍क पीड़ित की संख्‍या 0.22 फीसदी थी।
  • वर्ष 2017 में HIV संक्रमण के लगभग 87,580 नए मामले सामने आए और 69,110 लोगों की एड्स से संबंधित बीमारियों से मौत हुई।
  • इस दौरान माँ से बच्‍चों में HIV के संक्रमण को रोकने के लिये 22,675 माताओं को एंटीरेट्रोवायरल थेरेपी (ART) की ज़रूरत पड़ी। एंटीरेट्रोवायरल थेरेपी (ART) शरीर में HIV वायरस को बढ़ने से रोकती है।
  • राष्‍ट्रीय स्‍तर पर HIV के फैलने की गति कम रही, लेकिन देश के कुछ भौगोलिक क्षेत्रों और कुछ खास समुदायों में इस महामारी में वृद्धि हुई है।
  • हाल के वर्षों की तुलना में HIV संक्रमण के नए मामलों की गति में कमी आई है।
  • 1995 में एड्स महामारी की अधिकता की तुलना में कार्यक्रम के प्रभाव से इसके संक्रमण में 80 फीसदी से अधिक की कमी आई है।
  • इसी तरह 2005 में एड्स के कारण हुई मौतों की अधिकता की तुलना में 71 फीसदी की कमी आई है।
  • UN-एड्स 2018 की रिपोर्ट के अनुसार, एड्स के नए संक्रमण और एड्स से संबंधित बीमारियों के कारण मौतों का वैश्विक औसत घटकर क्रमश: 47 फीसदी और 51 फीसदी तक आ गया है।

HIV आकलन रिपोर्ट के बारे में

  • राष्‍ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम (National AIDS Control Programme- NACP) के तहत HIV आकलन रिपोर्ट, HIV श्रृंखला का 14वाँ संस्‍करण है।
  • यह भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद और राष्‍ट्रीय चिकित्‍सा सांख्यिकीय संस्‍थान के सहयोग से द्विवार्षिक HIV आकलन रिपोर्ट जारी करता है।
  • भारत में HIV आकलन का पहला संस्‍करण 1998 में आया था, जबकि पिछला संस्‍करण वर्ष 2015 में जारी हुआ था।
  • HIV आकलन का उद्देश्‍य भारत में राष्‍ट्रीय और राज्‍य/केंद्रशासित प्रदेश स्‍तर पर HIV महामारी की स्थिति की अद्यतन सूचना उपलब्‍ध कराना है।

HIV आकलन की आवश्यकता

  • ऐसे आकलन की ज़रूरत इसलिये पड़ती है, क्‍योंकि ऐसे महत्त्वपूर्ण संकेतकों को मापने का कोई भरोसेमंद उपाय नहीं है, जिनका इस्‍तेमाल दुनिया भर के देशों में महामारी की निगरानी करने और इस दिशा में उठाए जाने वाले कदमों के आकलन के लिये किया जाता है।

राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन 

  • राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय का एक प्रभाग है जो 35 HIV/एड्स रोकथाम और नियंत्रण समितियों के माध्यम से भारत में HIV/एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के लिये नेतृत्व प्रदान करता है।
  • 1986 में, देश में पहले एड्स मामले की पहचान के बाद, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय एड्स समिति गठित की गई थी।
  • एड्स के विस्तार के साथ ही भारत में इसके प्रति जागरुकता लाने तथा रोकथाम के उपाय अपनाने के लिये एक राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम चलाने की ज़रूरत महसूस होने लगी।
  • 1992 में भारत का पहला राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम (1992-1999) शुरू किया गया था और कार्यक्रम को लागू करने के लिये राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन (NACO) का गठन किया गया था।