UPSC IAS PRE QUESTION PAPER- 2019(81-90Questions)

ALL QUESTIONS LINK

  1. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए :
    1. कृषि मृदाएँ पर्यावरण में नाइट्रोजन के ऑक्साइड निर्मुक्त करती हैं।
    2. मवेशी पर्यावरण में अमोनिया निर्मुक्त करते हैं।
    3. कुक्कुट उद्योग पर्यावरण में, अभिक्रियाशील नाइट्रोजन यौगिक निर्मुक्त करते हैं।
    उपर्युक्त में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?
    (a) केवल 1 और 3
    (b) केवल 2 और 3
    (c) केवल 2
    (a) 1, 2 और 3

Ans-d

  1. अलियार, इसापुर और कंग्साबती जैसे ज्ञात स्थानों में क्या समानता है?
    (a) हाल ही में खोजे गए यूरेनियम निक्षेप
    (b) उष्णकटिबंधीय वर्षावन
    (c) भूमिगत गुफा तंत्र
    (d) जल भंडार

Ans-d

  1. सार्वजनिक परिवहन में बसों के लिए ईंधन के रूप में हाइड्रोजन संवर्धित CNG (H-CNG) का इस्तेमाल करने के प्रस्तावों के संदर्भ में, निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए :
    1. H-CNG के इस्तेमाल का मुख्य लाभ कार्बन मोनोक्साइड के उत्सर्जनों का विलोपन है।
    2. ईंधन के रूप में H-CNG कार्बन डाइऑक्साइड और हाइड्रोकार्बन उत्सर्जनों को कम करती है।
    3. बसों के लिए ईंधन के रूप में CNG के साथ हाइड्रोजन को आयतन के आधार पर पाँचवें हिस्से तक मिलाया जा सकता है।
    4. CNG की अपेक्षा H-CNG ईंधन को कम खर्चीला बनाती है।
    उपर्युक्त में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?
    (a) केवल 1
    (b) केवल 2 और 3
    (c) केवल 4
    (d) 1, 2, 3 और 4

Ans-b

  1. मेघाच्छादित रात में ओस की बूंदें क्यों नहीं बनतीं?
    (a) भूपृष्ठ से निर्मुक्त विकिरण को बादल अवशोषित कर लेते हैं।
    (b) पृथ्वी के विकिरण को बादल वापस परावर्तित कर देते हैं।
    (c) मेघाच्छादित रातों में भूपृष्ठ का तापमान कम होता
    (d) बादल बहते हुए पवन को भूमितल की ओर विक्षेपित कर देते हैं।

Ans-b

  1. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए :
    1. भारत के संविधान के 44वें संशोधन द्वारा लाए गए एक अनुच्छेद ने प्रधानमंत्री के निर्वाचन को न्यायिक पुनर्विलोकन के परे कर दिया।
    2. भारत के संविधान के 99वें संशोधन को भारत के उच्चतम न्यायालय ने अभिखंडित कर दिया
    3. क्योंकि यह न्यायपालिका की स्वतंत्रता का अतिक्रमण करता था।
    उपर्युक्त में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?
    (a) केवल 1
    (b) केवल 2
    (c) 1 और 2 दोनों
    (d) न तो 1, न ही 2

Ans-b

  1. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए :
    1. न्यायाधीश (जाँच) अधिनियम, 1968 के अनुसार, भारत के उच्चतम न्यायालय के किसी न्यायाधीश पर महाभियोग चलाने के प्रस्ताव को लोक सभा के अध्यक्ष द्वारा अस्वीकार नहीं किया जा सकता।
    2. भारत का संविधान यह परिभाषित करता है और ब्यौरे देता है कि क्या-क्या भारत के उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीशों की अक्षमता और सिद्ध कदाचार’ को गठित करते हैं।
    3. भारत के उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीशों के महाभियोग की प्रक्रिया के ब्यौरे न्यायाधीश (जाँच) अधिनियम, 1968 में दिए गए हैं।
    4. यदि किसी न्यायाधीश के महाभियोग के प्रस्ताव को मतदान हेतु लिया जाता है, तो विधि द्वारा अपेक्षित है कि यह प्रस्ताव संसद के प्रत्येक सदन द्वारा समर्थित हो और उस सदन की कुल सदस्य संख्या के बहुमत द्वारा तथा संसद के उस सदन के कुल उपस्थित और मत देने वाले सदस्यों के कम-से-कम दो-तिहाई द्वारा समर्थित हो।
    उपर्युक्त में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?
    (a) 1 और 2
    (b) केवल 3
    (c) केवल 3 और 4
    (d) 1, 3 और 4

Ans-c

  1. किस प्रधानमंत्री के कार्यकाल के दौरान भारत के संविधान में नौवीं अनुसूची को पुरःस्थापित किया गया था?
    (a) जवाहरलाल नेहरू
    (b) लाल बहादुर शास्त्री
    (c) इंदिरा गाँधी
    (d) मोरारजी देसाई :

Ans-a

  1. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए :
    1. भारत सरकार द्वारा कोयला क्षेत्र का राष्ट्रीयकण इंदिरा गाँधी के कार्यकाल में किया गया था।
    2. वर्तमान में, कोयला खंडों का आबंटन लॉटरी के आधार पर किया जाता है।
    3. भारत हाल के समय तक घरेलू आपूर्ति की कमी को पूरा करने के लिए कोयले का आयात करता था, किन्तु अब भारत कोयला उत्पादन में आत्मनिर्भर है।
    उपर्युक्त में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?
    (a) केवल 1
    (b) केवल 2 और 3
    (c) केवल 3
    (d) 1, 2 और 3

Ans-a

  1. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए :
    1. संसद (निरर्हता निवारण) अधिनियम, 1959 कई पदों को लाभ का पद’ के आधार पर निरर्हता से छूट देता है।
    2. उपर्युक्त अधिनियम पाँच बार संशोधित किया गया था।
    3. शब्द लाभ का पद’ भारत के संविधान में भली भाँति परिभाषित किया गया है।
    उपर्युक्त में से कौन-सा/से कथन सही है/हैं?
    (a) केवल 1 और 2
    (b) केवल 3
    (c) केवल 2 और 3
    (d) 1, 2 और 3

Ans-a

  1. भारत के संविधान की किस अनुसूची के अधीन जनजातीय भूमि का, खनन के लिए निजी पक्षकारों को अंतरण अकृत और शून्य घोषित किया जा सकता है?
    (a) तीसरी अनुसूची
    (b) पाँचवीं अनुसूची
    (c) नौवीं अनुसूची
    (d) बारहवीं अनुसूची

Ans-b