UPSC IAS MAINS 2015 GENERAL STUDY QUESTION PAPER-2

  1. चर्चा कीजिए कि वे कौन-से संभवित कारक है जो भारत को राज्य की नीति के निदेशक तत्व में प्रदत के अनुसार अपने नागरिकों के लिए समान सिविल संहिता को अभिनियमित करने से रोकते हैं।
  2. हाल के वर्षों में सहकारी परिसंघवाद की संकल्पना पर अधिकारिक बल दिया जाता रहा है। विद्यमान संरचना में असुविधाओं और सहकारी परिसंघवाद किस सीमा तक इन असुविधाओं का हल निकाल लेगा, इस पर प्रकाश डालिए।
  3. सुशिक्षित और व्यवस्थित स्थानीय स्तर शासन-व्यवस्था की अनुपस्थिति में ‘पंचायते’ और ‘समितियां’ मुख्यतः राजनीतिक संस्थाएं बनी रहीं है न कि शासन के प्रभावी उपकरण। समालोचनापूर्वक चर्चा कीजिए।
  4. खाप पंचायतें संविधनेतर प्राधिकरणों के तौर पर प्रकार्य करने, अक्सर मानावधिकार उलंघनों कीकोटि में आने वाले निर्णयों को देने के कारण खबरों में बन रही हैं। इस संबंध में स्थिति को ठीक करने के लिए विधानमंडल, कार्यपालिका और न्यायपालिका द्वारा की गई कार्रवाइयों पर समालोचनात्मक चर्चा कीजिए।
  5. अध्यादेशों का आश्रय लेने ने हमेशा के पृथकरण सिद्धांत की भावना के उलंघन पर चिंता जागृत की है। अध्यादेशों को लागू करने की शक्ति के तर्काधार को नोट करते हुए विश्लेषण कीजिए कि क्या इस मुद्दे पर उच्चतम न्यायालय के विनिश्चयों ने इस शक्ति का आश्रय लेने को और सुगम बना दिया है। क्या अध्यादेशों को लागू करने की शक्ति का निरसन कर दिया जाना चाहिए।
  6. राष्ट्रपति द्वारा हाल में प्रख्यापित अध्यादेश के द्वारा माध्यस्थम् और सुलह अधिनियम, 1996 में क्या प्रमुख परिवर्तन किए गए है? यह भरत के विवाद समाधान यांत्रिकत्व को किस सीमा तक सुधारेगा? चर्चा कीजिए।
  7. क्या स्वच्छ पर्यावरण के अधिकार में दीवाली के दौरान पटाखे जलाने के विधिक विनियम भी शामिल है? इस पर भारतीय संविधान के अनुच्छेद 21 के, और इस संबंध में शीर्ष न्यायालय के निर्णय/निर्णयों के, प्रकाश में चर्चा कीजिए।
  8. विदेशी अभिदाय (विनियमन) अधिनियम (एफ.सी.आर.ए.), 1976 के अधीन गैर-सरकारी संगठनों के विदेशी वित्तीयन के नियंत्रक नियमों में हाल के परिवर्तनों का समालोचनात्मक परीक्षण कीजिए।
  9. आत्मनिर्भर समूह (एस.एच.जी) बैंक अनुबंधन कार्यक्रम (एस.बी.एल.पी), जो कि भारत का स्वयं का नवाचार है, निर्धणता न्यूनीकरण औश्र महिला सशक्तिकरण कार्यक्रमों में एक सर्वाधिक प्रभावी कार्यक्रम साबित हुआ है। सविस्तार स्पष्ट कीजिए।
  10. पर्यावरण की सुरक्षा से संबंधित विकास कार्यांे के लिए भारत में गैर-सरकारी संगठनों की भूमिका को किस प्रकार मजबूत बनाया जा सकता है? मुख्य बाध्यताओं पर प्रकाश डालते हुए चर्चा कीजिए।
  11. भारत में उच्च शिक्षा की गुणता को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतियोगी बनाने के लिए उसमें भारी सुधारों की आवश्यकता है। क्या अपके विचार में विदेशी शैक्षिक संस्थाओं का प्रवेश देश में उच्च और तकनीकी शिक्षा की गुणता की प्रोन्नति में सहायक होगा? चर्चा कीजिए।
  12. सार्विक स्वास्थ्य संरक्षण प्रदान करने में सार्वजनिक स्वास्थ्य प्रणाली की अपनी परिसीमाएं है। क्या आपके विचार में खाई को पाटने में नीजि क्षेत्राक सहायक हो सकता है। आप अन्य कौन-से व्यवहार्य विकल्प सुझाएंगे?
  13. यद्यपि भारत में निर्धनता के अनेक विभिन्न प्राकलन किए गए हैं, तथापि सभी समय गुजरने के साथ निर्धनता स्तरों में कमी आने का संकेत देते हैं। क्या आप सहमत है। शहरी और ग्रामीण निर्धनता संकेतकों का उल्लेख के साथ समालोचनात्मक परीक्षण कीजिए।
  14. सत्यम् कलंकपूर्ण कार्य (2009) के प्रकाश में काॅर्पोरेट शासन में पारदर्शिता, जवाबदेही को सुनिश्चित करने के लिए लाए गए परिवर्तनों पर चर्चा कीजिए।
  15. ‘‘यदि संसद में पटल पर रखे गए व्हिसलब्लाअर्स अधिनियम, 2011 के संशोधन बिल को पारित कर दिया जाता है, तो हो सकता है कि सुरक्षा प्रदान करने के लिए कोई बचे ही नहीं।’’ समालोचनात्मकपूर्वक मूल्यांकन कीजिए।
  16. ‘‘वांछित उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए यह सुनिश्चित करना आवश्यक है कि विनियामक संस्थाएं स्वतंत्र और स्वायत बनी रहे।’’ पिछले कुछ समय मंे हुए अनुभवों के प्रकाश में चर्चा कीजिए।
  17. अफ्रीका में भारत की बढ़ती हुई रूचि के सकारात्मक और नकारात्मक पक्ष है। समालोचनात्मकपूर्वक परीक्षण कीजिए।
  18. संयुक्त राष्ट्र परिषद में स्थायी सीट कोखज में भारत के समक्ष आने वाली बाधाओं पर चर्चा कीजिए।
  19. परीयोजना ‘मौसम’ को भारत सरकारी की अपने पड़ोसियों के संबंधों को सुदृद्ध करने की एक अद्वितीय विदेश नीति पहल माना जात है। क्या इस परियोजना का एक रणनीतिक आयाम है? चर्चा कीजिए।
  20. आतंकवादी गतिविधियों और परस्पर अविश्वास ने भारत-पाकिस्तान संबंधों को धूमिल बना दिया है। खेलों और सांस्कृतिक आदान-प्रदानों जैसी मृदु शक्ति सीमा तक दोनों देशों के बीच सदभाव उत्पन्न करने में सहायक हो सकती है? उपर्युक्त उदाहरणों के साथ चर्चा कीजिए।